Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

भाभी को उसके पति के बाहर चले जाने पर चोदा

bhabhi sex stories, antarvasna हाय दोस्तो | आज मैं आपको एक भाभी की कहानी सुनाने को जा रहा हूँ | मेरे पड़ोस में एक भाभी रहा करती थी | मैं जब छत पर चड़ा रहता था तब वो घर के सामने रहने वाली भाभी उसके छत पर कपडा सुखाया करती थी | मैं उन्हे कपडे सुखाते हुए देखा करता था | लेकिन एक दिन मैंने उस भाभी को पट्टा लिया और उसकी चुदाई करने में सफलता पाई | चलिए जानते है की मैंने अपनी सामने रहने वाली भाभी को कैसे पटाया | जब मैं घर पर अकेला रहता था तब मैं अपने घर की छत पर टहला करता था | तब मेरे सामने पड़ोस में रहने वाली भाभी मुझे दिख जाती थी | जब मैं अपने छत पर चड़ा करता था तब मैं उनके घर पर आसानी से देख पाता था की उनके घर पर क्या चल रहा है | जब मैं उनके घर पर देखा करता था तब मुझे मालूम था की सामने वाली भाभी दोपहर के समय घर के आंगन में नहाती है | मैं अपने फुर्सत के समय उनको नहाते हुए देखा करता था | मैं उन्हे छिपकर अपने छत से देखा करता था जब वो नहाती थी | उसका पति कोई प्राइवेट व्यावसाय किया करता था | उसके चले जाने पर और घर का कार्य करने के बाद वो सामने वाली भाभी नहाया करती थी |

मुझे एक दिन ऐसा लगा की मुझे उस भाभी को पटाना पड़ेगा ताकि मैं उसे चोद सकू | उनको पटाने के लिए मेरे पास एक तरकीब थी | मैंने पहेले उसके पति से मित्रता कर ली | कुछ समय तक मैं उसके पति के साथ रहकर घुमा करता था और उसके उपर अपना रुपय खर्च किया करता था | उसको मेरा रुपय खर्च करना पसन्द आता था लेकिन उसके पति को नही मालूम था की रुपय खर्च करना तो एक बहाना है | क्योकि मुझे उसकी पत्नी को चोदना था | एक दिन उसके पति ने मुझ को उनके घर पर बुलाया था ताकि मैं उनके घर पर आकर उनके घर का भोजन खाऊ | मैं उनके घर के अन्दर गया और उसके पति ने मुझे भोजन खिलाया | उनके घर का भोजन लाजवाब था | उसके घर के अन्दर पहुचने पर मेरी पहचान उसकी पत्नी से हो चुकी थी | मेरे घर की सामने वाली भाभी ने मुझ से कहा की तुम तो मेरे घर के सामने रहते हो | तब मैंने उससे कहा की हा मैं आपके घर के सामने रहता हूँ | जब मेरी पहचान उस लड़की से हो चुकी थी तो मुझे एक मौका मिल गया था की मैं आगे और उसकी पत्नी से मिलू | मैं उसकी पत्नी से मिलना का सिलसिला बड़ा दिया | कुछ दिन के बाद उसकी पत्नी मुझ से खुलकर बात करने लगी  | सबसे बड़ी सफलता मुझे तब मिली जब उसके पत्नी ने एक दिन घर का रसन लेने के लिए कहा और उसका फोन नम्बर दे दिया | मैं जब बाजार से लौटकर आया तो क्या लेना है ये पूछने के लिए मैंने भाभी के फोन नम्बर पर फोन लगाया | मेरे पास  एक मौका था | मैं अपने फोन से फोन लगाया करता था और भाभी से पूछा करता था की अगर आपको कुछ मंगवाना है तो आप मुझे फोन लगा सकते हो | एक सप्ताह के अन्त होने पर मेरे पास एक फोन आया करता था और ये फोन भाभी किया करती थी | वो मुझ से कुछ मंगवाने के लिए फोन किया करती थी | एक दिन जब मैंने उनके घर का रसन लाया तो उनके घर पर कोई नही था | मुझे जब मालूम चला की उनके घर पर कोई नही है तो मैं घर पर रुक गया और भाभी से हसी मजाक करने लगे |

मुझे उस दिन एक सुनहरा मौका मिला था की मैं भाभी के दूद को दबा सकू | हसी मजाक करने के दौरान मैंने भाभी को गले लगाया | फिर भाभी के होटो को चूमने लगा | भाभी के होटो को जब मैंने चूमा तो भाभी ने मुझ से कहा की मेरे पति घर आ सकते है | उनके घर से जाने से पहेले मैंने उनको गले लगाया और भाभी ने मुझ से कहा की जब मेरा पति घर पर नही रहेंगे तब तुम घर पर आना | उस सामने वाली भाभी का फोन नम्बर मेरे पास था | इसलिए मैंने एक दिन उनको फोन लगाया और भाभी ने मुझे बताया की घर पर कोई नही है | क्योकि उस दिन उनके पति शहर से बाहर गए हुए थे | शहर के बाहर उसका पति होने के कारण मेरे पास एक मौका था की मैं उस दिन भाभी की चुदाई कर सकू | मैंने मौके का फायदा उठाया और मैं उसके घर के अन्दर घुसा | घर पर पहुचने और घुसने के बाद मैंने पाया की घर पर कोई नही था | मैंने भाभी के लिए उस दिन मिटाई ले कर आया था अगर कोई घर पर होता तो मुझे मालूम चल जाता  की घर पर कोई है | मिटाई के बहाने मुझे कोई पकड भी नही सकता था | जब मैं घर पर पहुचा तो मुझे मालूम चला की भाभी अकेली है | इसलिए मैंने भाभी की चूत को पकड़ने के लिए उनको पहेले गले लगा लिया | मैं जब उनको गले लगा रहा था तब भाभी ने भी मेरे साथ दिया | भाभी ने भी मुझे गले लगाया और फिर क्या था मैंने उनकी गाड दबाया | कुछ समय तक उनकी गाड को दबाने के बाद मैंने अपने लंड को अपने पेन्ट से बाहर निकाल लिया और अपने लंड में अपने मुह से थूक निकालने के बाद उसे अपने लंड में लगा लिया | ऐसा करने पर मुझे चिकनाई मिल गई ताकि जब मैं भाभी के चूत में अपने लंड को डालू तो मेरे लंड आसानी से भाभी की चूत के अन्दर घुस सके | कुछ समय के बाद मैंने भाभी की चुदाई अपने लंड से किया | चुदाई करने के दौरान मैंने दरवाज बन्द कर लिया था | मेरा लंड भाभी की चूत को भेद रहा था | भाभी अह अह कह रही थी जब मैं उनको चोद रहा था | जब मैं उनको चोद रहा था तब मैं अह अह कह रहा था | मेरे पास कुछ नया करना का मौका था इसलिए ये मेरा पहला अनुभव था | मैंने आज तक कोई लड़की को पहेले नही चोदा था | इस अनुभव को पाने के लिए मैंने एक तरकीब का उपयोग किया था तभी मैं उस सामने वाली भाभी को चोद पाया | उसका पति किसी कार्य से शहर से बाहर गया हुआ था इसलिए मेरे पास एक महीने का समय था उस भाभी को चोदने का | उस पड़ोस वाली भाभी से मेरे सम्बन्द चलते रहे इसके लिए मैं उस भाभी को कपडे उपहार के तौर पर दिया करता था |

मुझे कपडे पहनने का सौक है इसलिए जब मैं अपने कपडे लाया करता था तो मैं भाभी के लिए भी कपडे लाया करता था | भाभी को जब कपडे दिया करता था तो भाभी मुझ से खुस हो जाया करती थी | ऐसा करने पर मेरे पास एक मौका मिल जाता था की मैं भाभी के साथ सम्बन्द लम्बे समय तक बनाकर रख सकू | मैं एक महीने तक पड़ोस वाली भाभी को आसानी से चोदता रहा | कुछ महीने के लिए मुझे शहर से बाहर जाने पड़ा क्योकि भाभी के पति का तबादला किसी अन्य शहर पर हो गया था | किसी अन्य शहर पर तबादला होने के कारण उस पड़ोस वाली भाभी को वहा पर रहने के लिए जाना पड़ा | मैं वहा पर घुमने के लिए गया था | मैं उस शहर भाभी से सम्बन्द बनाने के लिए गया हुआ था | मैंने भाभी के फोन नम्बर पर फोन लगाकर कहा की मैं तुम्हारे शहर आ रहा हूँ | जब उसको मालूम चला की मैं तुम्हारे शहर आ रहा हूँ | तो वो मेरा स्वागत करने के लिए तयार थी | मैंने कहा की मैं अपने मामा से मिलने के लिए तुम्हारे शहर आ रहा हूँ | जब मैं उस शहर पर पहुचा तब मैंने पाया की मुझ को लेने के लिए उसका पति रेलवे स्टेशन पर आया हुआ था | क्योकि उस पड़ोस वाली भाभी का पति मेरा मित्र था इसलिए मैंने उसे फोन लगाया था की तुम मुझे लेने के लिए रेलवे स्टेशन पर पहुच जाना | उस दिन वो मुझे लेने के लिए आया हुआ था | जब वो रेलवे स्टेशन पर पहुचा तो उसने मुझ से कहा की तुम मेरे घर पर चलो | उसकी सलाह को महत्व देते हुए मैंने कहा की मैं कुछ समय तक तुम्हारे घर पर रुक सकता हूँ |

कुछ देर तक उसके घर पर रुकने के बाद मैंने अपने मित्र से कहा की मुझे मामा के घर जाना है | मैं मामा के घर पर चला गया | जब मैं अपने मामा से मिला तो मेरे मामा को खुसी हुई | मेरे मामा एक शानदार बन्दे है | एक दिन मैंने अपने मित्र से कहा की मेरे मामा के घर पर तुमको आना है और तुम तुम्हारी पत्नी को भी लेकर आना | क्योकि मेरे मामा के घर पर एक लड़के का जन्म दिन बनाया जा रहा था | जन्म दिन बनाने के लिए घर पर महमान लोग आया करते थे | जब वो मेरा मित्र आया हुआ था तब उसकी पत्नी भी आई हुई थी | जब उसकी पत्नी मेरे मामा के घर पर आई हुई थी तो उसने मुझे से बात किया और भाभी के पति ने भी मुझ से बात किया | उस दिन मामा के घर पर मुझे मालूम चला की भाभी का पति पुराने शहर जाने वाला है किसी वजय से | तब मुझे एक अवसर मिला की मैं पड़ोस में रहने वाली भाभी को आसानी से चोद सकता हूँ | आज के युग में व्यावसाय की वजह से लोगो को घर से बाहर जाना पड़ता है | इसलिए उस भाभी के पति को शहर से बाहर जाना पड़ा | उसके पति के बाहर जाने के बाद मैंने उस भाभी के फोन नम्बर पर फोन लगाया | उस भाभी ने मुझे बताया की उसका पति शहर से बाहर चला गया है | उस दिन मैंने मौके का फयदा उठाया | मैंने एक किराये के घर लिया था | जब मेरे फोन लगाने पर वो आई तब मैं उसे अपने एक किराये के घर पर ले कर चला गया | किराये का घर मैंने इसलिए लिया था ताकि मैं उस लड़की की चुदाई कर सकू |

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


chodnasuhag raatantarvasna antarvasna antarvasnadesi chuchimami sex????antarvasna com 2014velamma comic????? ??????indian porn storiessex hindi storysex hindi story antarvasnam.antarvasnaantrvasnahindi adult storieshimajasex khaniantarvasna bhai bhansexy kahani????? ??????xxx auntieschut antarvasnaantarvasna 2meena sexantarvasna desi storiesanatarvasnasardarjiantarvasna appmummy ki antarvasnaaunty sex.comdesi chudairomance and sexsexi storiesantervasna hindi sex storyantarvasna hindi hot storykatcrchudai ki khanisex hindi storyindian sec storieskahaniya.comchoot ki chudaisuhagrat sexantarvasna hindisexstoriessardarjiantarvasna hindi sexstorynew antarvasna hindi storychudai picantarvasna storychudai ki khaniantarvasna hindi insucksex????????gandi kahanim antarvasna hindiantarvasna hindiantarvasna salilesbian sex storiesantarvasna hindi sex khaniyasexy teachersex teacherdesi sexy storiesantrvsnasex with bhabhimom sex stories???techtudsexi kahaniantarvasna.antarvasna chudai storyantarvasna doodhmarathi zavazavi kathafree antarvasna hindi storysex with cousinnew antarvasna in hindidesi bhabhi boobsdesi group sexdesi chutantarvasna android appsex story in englishchudai ki kahanimadam meaning in hindiantaravasana