Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

बीवी और अपनी बहन को रांड बनाया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम मुजीब है और मेरी फेमिली में मेरे मम्मी पापा, में और मेरी छोटी बहना सलमा रहते है.  मेरी उम्र 20 साल है और मेरी प्यारी रंडी बहन करीब 18 साल की होगी, वो मस्त माल है और रंग गोरा है.  में उसे जब वो छोटी थी तब से दबा रहा हूँ.  आज तो वो जवान हो गयी है, बड़े-बड़े बूब्स उठ चुके है, बड़ी-बड़ी गांड पीछे से निकलती है.

अभी थोड़े दिन पहले ही उसने पहली बार ब्रा पहननी शुरु की है, उसकी इच्छा थी कि उसे पहली बार ब्रा उसके भैया ही पहनाए, क्योंकि अंदर जो माल आया है, उसके पीछे भैया का ही हाथ है.  में उसे बहुत बार मेरी गोद में बैठा चुका हूँ और मैंने कई बार उसकी जीभ चूसी है, वो साली गुड़िया रानी बहुत मीठी है.  में हमेशा से उसका चहिता हूँ और उसे जो चाहिए जैसे चाहिए में उसे देता हूँ और उसे कभी कमी नहीं होने देता हूँ.

अभी थोड़े दिन पहले ही उसका बर्थ-डे था, तो उसने मुझे बताया कि अब माँ मुझसे कहती है कि ब्रा पहन लूँ बहुत खराब दिखता है, तो मैंने बोला कि ओके दीदी में तुझे लाकर दूँगा या हम दोनों साथ में जाकर खरीदेंगे.  फिर वो बहुत खुश हो गयी और बोली कि भैया ये मेरे मन की बात थी कि में पहली बार ब्रा तुम्हारे हाथ से ही पहनूं.  यह थोड़े दिन पहले की बात है और मेरे घरवालों ने मेरी सगाई करने का इरादा किया.  फिर मेरी माँ ने बताया कि अब तुम समझदार हो गये हो, तुम्हारे लिए कोई लड़की देखनी पड़ेगी.

मुझे मेरी बहन की सहेली सना बहुत पसंद है और उसे में मेरी रांड बनाना चाहता हूँ, वो बात मेरी रंडी बहन सलमा को भी मालूम है और कभी-कभी में मेरी बहन को सना बोलकर ही बात करता हूँ.

अब तो मेरी सगाई हो चुकी है और मेरी डार्लिंग सना मेरी रांड बन चुकी है और बार-बार मेरे घर आती जाती रहती है और सना को सब मालूम है कि में सना और सलमा दोनों का दीवाना हूँ और मुझसे पहले मेरी रंडी बहन ने ही उसे सब बता दिया था कि हम दोनों के बीच में ये सब चल रहा है और उसे ये सब मंज़ूर था.  फिर जब कई बार घर पर कोई नहीं होता या मेरे कमरे में वो दोनों होती है, तो में उन दोनों को साथ-साथ में चूमता हूँ और अपनी बाँहों में लेता हूँ और कभी-कभी तो उन दोनों को एक साथ किस करता हूँ, वो दोनों मेरी रांड है.

यह थोड़े दिन पहले की ही बात है मेरे मम्मी और अब्बू किसी काम से बाहर गाँव गये हुए थे.  अब घर पर सिर्फ़ में और मेरी बहन सलमा थे, तो हमने प्रोग्राम बनाया कि क्यों ना आज भाभी को यहाँ बुलाया जाए? और आज़ादी के साथ दोनों को रांड बनाया जाए, ऐसी मेरी बहन की ख्वाइश थी, तो में बोला कि हाँ तू उससे पहले पूछ ले.  फिर उसने फ़ोन घुमाया और उससे बात की और बातों-बातों में बताया कि आज हम दोनों घर पर अकेले है, आपका क्या प्रोग्राम है? आप आ जाए तो और मज़ा आयेगा.

फिर वो बोली कि कैसा मज़ा? तो उसने बताया कि आज भैया हम दोनों को एक साथ माँ बनाएँगे.  तो वो चौक गयी और पूछने लगी कि क्या? तो वो बोली कि अब समझा करो आज हम दोनों एक साथ भैया की दुल्हन बनेंगे, तुम तैयार हो? और फिर उन दोनों ने मिलकर आपस में बातें की और प्रोग्राम बनाया.  फिर सलमा बोली भैया भाभी मान गयी है अब तैयारी करो.  अब वो आएंगी, तो तुम्हें उसे कुछ गिफ्ट देना पड़ेगा और मुझे भी गिफ्ट देना पड़ेगा, में भी तो तुम्हारी ही जान हूँ.  फिर में बोला कि हाँ, लेकिन दीदी अभी टाईम कम है और मुझको ज़्यादा से ज़्यादा टाईम तुम दोनों के साथ बिताना है, आज में तुम दोनों को खा जाऊंगा.

वो बोली कि ओके भैया मेरे पास मेरी एक नयी ब्रा और पेंटी है अगर आपको उसे गिफ्ट करना हो तो बोलो.  फिर में बोला कि ओके जान और तुम्हें क्या दूँगा? तो वो बोली कि भैया मुझे एक डिल्डो चाहिए.  जब तुम भाभी के साथ होंगे तो मुझे तुमको याद करके मेरी चूत में डालना पड़ेगा.  फिर में बोला कि वो कहाँ मिलेगा? तो उसने बताया कि शायद भाभी के पास है.  आप उससे कहिए कि वो लेकर आए और फिर आप मुझे वो गिफ्ट कर देना और जब मौका मिले तो भाभी को दूसरा दिला देना.  फिर में बोला कि हाँ जान तुम्हारी बात तो ठीक है, लेकिन तुम ही जरा सना को बता दो कि वो डिल्डो लेकर आए.  फिर पहले तो वो आनाकानी करने लगी, लेकिन फिर मेरे कहने पर उसने सना को फ़ोन पर बताया कि वो साथ में हथियार लेकर आए.

दोस्तों अब मुझे तो बहुत जल्दी थी कि कब वो रांड आए और में उसे खा जाऊं और वो भी मेरी रंडी बहन के सामने.  फिर मैंने सलमा को बताया कि हम हर रोज साथ में रहते है, लेकिन आज एक खास दिन है और आज प्लीज तुम मेरे लिए सजना जैसे कि आज तुम्हारी सुहागरात है और तुम्हें तुम्हारे पति को खुश करना है.  फिर वो मेरे सामने सब ड्रेस रखने लगी और बोली कि आज आप बताइए में तुम्हारे लिए कैसे तैयार होऊं? तो फिर मैंने मेरे हाथों से मेरी रांड बहन सलमा को सजाया.

अब वो मेरी गोद में बैठी थी और मेरी माँ के जो गहने थे, वो उसे मेरे हाथ से पहनाए और साथ में उसे खूब चूसा, नाक में नथ पहनाई, पैर में पायल, कमर में सिल्वर चैन बांधी और खासकर उसको नंगा करके उसकी चूत के जो लिप्स होते है उस पर लिपस्टिक लगाई और बोला कि जब मेरा लंड तेरे होंठ चूसेगा तो तेरी लाली से लाल हो जाना चाहिए, तो वो मुस्कुराने लगी.

थोड़ी देर में डोर बेल बजी, तो सलमा बोली कि जाओं भैया दुल्हन को लेकर आओ.  फिर में बोला कि नहीं तुम जाकर भाभी को मेरे रूम में लेकर आओ.  अब उन दोनों रंडियो की आपस में पहले ही बात हो गयी थी.  फिर मैंने देखा तो वो भी एकदम कड़क माल बनकर आई थी और दुल्हन जैसे कपड़े उसके साथ छुपाकर लेकर आई थी.

वो बोली कि आज मेरी ननंद मुझे अपने भैया के लिए तैयार करेगी.  फिर जब मैंने उन दोनों हसीनाओं को देखा तो मेरे होश उड़ गये.  अब मुझे कुछ समझ में नहीं आ रहा था कि कहाँ से शुरू करूँ? अब मेरा लंड तन चुका था.  फिर मेरी बहन बोली कि भाभी ये देखो, वो तो अभी से तैयार हो गया, अभी तो दुकान भी नहीं खुली है.  फिर मैंने उन दोनों को दबोच लिया और अपनी बाँहों में भरकर बारी-बारी से उन दोनों को खूब चूसा.

फिर तभी मेरी बहन मुझसे अलग हुई और मेरी रांड सना को भी अलग किया और बोली कि में भाभी को सजाकर आपके सामने पेश करती हूँ, आप थोड़ी देर इंतज़ार करिएगा.  अब मेरा तो दिमाग ही काम नहीं कर रहा था.  फिर में उठकर अंदर गया तो मैंने देखा कि वो दोनों एक दूसरे से लिपटी थी और एक दूसरे को चूस रही थी.

में उन दोनों के सामने जाकर बैठ गया और उन दोनों को देखने लगा, तो वो दोनों मेरे सामने देखकर मुस्कुराने लगी और एक दूसरे को चाटने लगी.  अब में जहाँ बैठा था, वहाँ सना का पर्स पड़ा था तो मैंने उसे उठाया और देखने लगा, तो वो मुझे ना बोलने लगी, लेकिन मैंने पर्स को खोलकर देखा तो उसके अंदर बड़ा सा रबड़ का लंड था जैसे घोड़े का होता है.

मैंने उसे बाहर निकाला, तो मेरी बहन मुझसे माँगने लगी कि देखो भैया मुझे ये चाहिए और आप भाभी को दूसरा दिला देना.  अब वो दोनों खिलखिला रही थी और एक दूसरे को चूस रही थी.  फिर तभी मैंने उठकर मेरी बहन की गांड पर रबड़ का लंड मारा, तो वो ज़ोर से चिल्लाई उूहू भैया क्या कर रहे हो? और फिर में वापस आकर अपनी जगह पर बैठ गया.

अब उन दोनों का प्यार चालू था, तो तभी मेरी बहन मेरी रांड सना को लेकर मेरे पास आई और मेरा लंड निकालकर चूसने लगी.  अब कभी ये तो कभी वो, अब वो दोनों बारी-बारी से मेरा लंड चूस रही थी, तो कभी वो दोनों मिलकर दोनों साईड से मेरे लंड पर अपनी जीभ फैरती.  अब में उन दोनों की गांड पर हाथ फैर रहा था और कभी चूत पर भी अपना हाथ मार देता था.

तभी मेरी रांड सना ने उठकर उस लंड की बेल्ट बाँधकर उसे पहन लिया और मेरी बहन के पीछे से उसे टच करने लगी.  अब मेरी बहन एकदम मस्त हो गयी थी और घूमकर उसका रबड़ का लंड चूसने लगी.  अब मेरा लंड उसके हाथ में था, अब वो दोनों गर्म हो गयी थी.  फिर तभी मेरी बहन ने उसकी भाभी का लंड मुझे ऑफर किया, भैया भाभी का लंड चूसोगे? तो मैंने उसका लंड हाथ में पकड़ा और उसे ऊपर करके उसकी चूत को चूसने लगा.  अब वो पागल हो गयी थी.

अब मेरी बहन मेरा लंड चूस रही थी और उसे चूसकर बिल्कुल कड़क करके मेरी रांड सना की चूत में डालने के लिए उसे कुतिया बनाया, तो मैंने धीरे से मेरी रांड सना की चूत में अपना लंड डाल दिया और झटके मारना लगा.

तभी मेरी प्यारी बहन कुतियाँ बनकर उसके बूब्स चूसने लगी.  अब उसकी गांड मेरे नज़दीक़ थी तो मैंने उसकी गांड पकड़कर उस पर ज़ोर से काटा, तो वो ज़ोर से उछली, तो मैंने उसे पकड़कर दबोच दिया.  अब मेरा लंड सना की चूत में था और में मेरी बहन की चूत पीछे से चाट रहा था.

थोड़ी देर के बाद मैंने मेरी कुतिया रांड की चूत में से अपना लंड बाहर निकाला और मेरी बहन से बोला कि तुम उसे चूसो, में तुम्हारी भाभी की चूत चूसूंगा और फिर मैंने खूब चूत चुसाई की.  फिर बाद में मेरी बहन बोली कि भैया ये तैयार है अब इसे भाभी की चूत में डालो.  फिर में बोला कि तू ही पकड़कर अपनी भाभी की चूत में डाल दे, तो तब उसने पकड़कर उसे गले लगाया.

फिर मैंने बहुत कसकर मेरी रांड सना को चोदा और उसे चरमोत्कर्ष तक ले गया.  अब जब वो झड़ने वाली थी, तो मैंने मेरा लंड बाहर निकालकर उसे कुतिया बनाकर उसकी गांड में घुसाकर उसकी चूत को पूरी तरह से दबोचकर खूब चूसा और उसकी चूत का पूरा पानी पी गया.  फिर जब मैंने उसे छोड़ा, तो वो मेरी बहन के पास अपनी चूत फैलाकर बोली कि कि तू भी इसे चूस.

फिर सलमा भी अपनी भाभी की चूत चाटने लगी.  अब वो कुतिया जैसी होकर चूत चाट रही थी और में फिर से धीरे से पीछे जाकर उस पर चढ़ गया और ज़ोर से झटके मारकर मेरी रांड की चूत में मेरा लंड घुसेड़ दिया.  अब वो चिल्लाने लगी थी कि भैया में मर गयी उईईईईईईई माँ, में मर जाउंगी, भैया छोड़ो मुझे.

तब मेरी रांड ने उसके बूब्स चूसे और अपने बूब्स उससे चुसवाए.  फिर सना बोली कि आराम से मारो अपनी बहन की चूत, वो कहीं भागी नहीं जा रही है.  फिर में बोला कि वो क्यों डार्लिंग? और फिर मैंने उसे दबोच लिया.  अब मेरा लंड मेरी बहन की चूत में था और अब में धक्के मार रहा था और मेरे मुँह में मेरी रांड सना की चूत थी.  फिर जब मेरी बहन झड़ने की करीब आई तो उसने बताया कि वो झड़ने वाली है, तो मैंने मेरी जीभ से उसका पानी पिया और मेरी रांड को भी किस करके पिलाया.  दोस्तों इस तरह से मैंने उन दोनों रंडियों को यानि मेरी बहन और बीवी को चोदा और खूब मजा किया.

Updated: February 26, 2017 — 9:28 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


hindi sex storesindian sex websitemaa bete ki antarvasnaantaravasanasex kathalusex storysexy kahaniasex in sareesex stories in hindi antarvasnaindian gay sex storyantarvasna hindi bhai bahanbhabhi sex storiesanjali sexsamuhik antarvasnakamukataantarvasna story hindiantarvaasnamaa ki antarvasnaantarvasna hotdesi sex kahanibf hindiporn storyantarvasna old storyantarvasana.combabhi sexantarvasna kamuktahindisexstoryantarvasna doodhdesi bhabhi sexsex kahaniantarvasna hindi bhai bahankiss on boobsxoosipnaga sexantarvasna xxx hindi storyhindi sex storyantarvasna story hindisex kahaniantarvasna imagesantatvasnaantarvasna hindi kahanibhabhi sexy??????mausi ki chudaisasur antarvasnasex kahanikiss on boobshot antarvasnasasur ne chodayouthiapafree desi blogindian poenbiwi ki chudaiantarvasna hindi photoantarvasna with image????? ????? ???desi cuckoldchudai ki kahaniyasavita bhabhi pdfsex storysantarvasna with picsantarvasna hindi sex khaniyadesi sex storyantarvasna love storyhot bhabi sexfree sex storiesantarvasna latest story????desi lundwww.antervasna.comsex story videosnew antarvasna kahanisex story in englishdesi kahanimaa ki antarvasnawww.antervasna.comantarvasna story 2015xossip englishsex auntyshindi sex filmantarvasna hd????? ??????antarvasna didi ki chudai