Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

बीवी ग़लती से पापा से चुदाई

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम मयंक है और में मुंबई से हूँ. में भी  मेरी उम्र 28 साल है और मेरी शादी कुछ साल पहले हो गई है और मेरी बीवी की उम्र 26 साल है जो एक रूप की रानी है और उसको एक बार देखकर साले बुड्ढे भी जवान हो जाते है. वो जहाँ पर भी जाती है कोई ना कोई उनके साथ छेड़खानी करते है.

दोस्तों में आज आप सभी को अपनी एक सच्ची घटना सुनाने जा रहा हूँ जिसके घटित होने के बाद में कुछ भी नहीं कर सका क्योंकि मेरे परिवार की इज्जत का सवाल था और अब में वो किस्सा आप सभी को थोड़ा विस्तार से बताता हूँ जिसने मेरी पूरी जिन्दगी को बदल कर रख दिया. दोस्तों मेरे घर में मेरे पापा मेरी माँ भी रहती है. मेरे पापा की उम्र 51 साल है जो दिखने में मेरे जैसे ही है. दोस्तों यह बात दो महीने पहले की है जब में मेरी बीवी और मेरे पापा मेरी माँ के साथ गावं गये हुए थे. वहाँ पर हमारा एक बहुत बड़ा खेत भी है और एक बहुत बड़ा घर भी. फिर उस दिन में, मेरे पापा हमारा खेत देखने चले गये और मेरी माँ और मेरी बीवी दोनों घर का काम करके जल्दी सो गई थी.

फिर में घर पर गया और अपने रूम में जाकर सो गया. दोस्तों मुझे चुदाई करनी थी, लेकिन मुझे ऐसा लगा कि शायद मेरी बीवी बैचारी काम करके थक गई होगी तो हम सेक्स कल करते है. यह बात मन ही मन सोचकर में सो गया, लेकिन हाँ दोस्तों मेरी बीवी भी बहुत बड़ी चुदक्कड़ है. में जब भी चोदने का नाम लेता हूँ तो कैसे भी हालात में हो उसकी तरफ से हाँ ही होती है, लेकिन मैंने खुद जानबूझ कर कुछ नहीं किया. फिर जब दूसरे दिन में मेरे पापा खेत पर गये तो हमे फिर से शाम हो गई और फिर में और मेरे पापा मेरे चाचा के घर पर चले गये. वहां पर उनका एक लड़का भी था. फिर मैंने पापा से कहा कि पापा में मोहन के साथ बाहर जा रहा हूँ आप घर पर जाकर सो जाना में थोड़ा देर से आ जाऊंगा. पापा ने कहा कि ठीक है और मेरे पापा थोड़ी देर बाद घर पर पहुंचे तो वो अपने रूम में चले गये. दोस्तों एक बात और मेरी बीवी और मेरी माँ ने अपना रूम चेंज कर लिया था जो मुझे और पापा को पता नहीं था. उसका कारण यह था कि मेरी बीवी को छिपकली से बहुत डर लगता था और वो उस वाले रूम में बहुत सारी थी तो इसलिए माँ ने कहा कि तुम आज इस रूम में सो जाना और कल हम दवा का छिड़ाकाव कर देंगे.

दोस्तों फिर इस ग़लती ने मेरी लाईफ में आग लगा दी और जब में घर पर पहुंचा तो पापा ने दरवाजा बंद किया और मैंने सुना नहीं कि उन्होंने मुझसे क्या कहा में अपने रूम में गया और मैंने देखा कि लाईट बंद थी और नाईट लेम्प जल रहा था. मैंने कपड़े चेंज किए और जब में सोने को गया तो मुझे साड़ी का अहसास हुआ तो मैंने मोबाइल की लाईट चालू करके देखा तो वहां पर मेरी माँ सो रही थी और क्या? में मेरे रूम में जाने लगा और मैंने सोचा कि में एक काम करता हूँ. मेरे रूम की खिड़की में खुली ही रखता हूँ जो बंद थी. मैंने सोचा कि अगर में दरवाजा खटखटाकर पापा को बुलाऊंगा तो मेरी बीवी को पता चल जाएगा वो शर्मिंदा ना हो इसलिए मैंने खिड़की हल्के से खोली तो में अंदर का नजारा देखकर बिल्कुल दंग रह गया.

मैंने देखा कि पापा कपड़े उतार रहे थे और उनको भी पता नहीं था उन्होंने अपने कपड़े उतारे और मेरी बीवी के पास लेट गये. वो एक कंबल के अंदर थी और मुझे लगा कि शायद उनको कुछ देर बाद पता चल जाएगा और वो उठकर बाहर आ जाएगें, लेकिन अब सब कुछ उल्टा हुआ. साली ठंड भी उस समय इतनी थी कि बूड़े को भी चुदाई की वासना जाग उठी और उन्होंने धीरे धीरे कंबल हटाया और जब उन्होंने मेरी बीवी की नाईट गाउन को छुआ तो वो भी एकदम चकित हो गये और फिर कुछ देर सोचने लगे. तभी अचानक से उन्होंने पूरा कंबल धीरे धीरे करके हटा दिया और अब मेरी बीवी काले कलर की नाईट गाउन में थी और वो पास में मुठ मारने लगे, फिर अचानक रुक गये और बैठकर उन्होंने मेरी बीवी यानी कि श्वेता के नाईट गाउन को थोड़ा सा उँचा करके धीरे धीरे ऊपर करने लगे.

फिर अब उन्होंने कमर तक चड़ा दिया अब उनको श्वेता की पेंटी जो काली कलर की थी, वो अब दिख रही थी और अब उन्होंने एक बार फिर से मुठ मारना चालू कर दिया. फिर जब उनको लगा कि अब कुछ करते है तो उन्होंने श्वेता के पैर को धीरे से उँचा करके फैला दिया और अब उस पेंटी में से चूत की दरार दिख रही थी जो चिपकी हुई थी. अब वो धीरे से मुहं को चूत तक ले गए और सूंघने लगे और ज़ोर ज़ोर से मुठ मारने लगे. फिर हिम्मत बढ़ाते हुए उन्होंने पेंटी को पकड़कर एक साईड किया और जीभ को पास में ले जाकर चाटने लगे.

मेरी बीवी अचानक से उठकर बैठ गई और बोली कि मयंक तुम यह क्या कर रहे हो? तुम्हे चुदाई करनी है तो प्लीज जल्दी से करो, लेकिन मुझे ऐसे तड़पाओ नहीं और फिर पापा ने अपनी गर्दन को हिलाकर हाँ बोला और मेरी बीवी को पता ही नहीं चला क्योंकि मेरे पापा का बदन बिल्कुल मेरे जैसा ही है, लेकिन मेरा लंड 7 का है और मेरे पापा का मैंने देखा तो साला पूरा 9 इंच का था और फिर उन्होंने अपनी जीभ को चूत के पास गोल गोल घुमाना शुरू किया तो मेरी बीवी की अब पूरी वासना जाग उठी थी.

अब वो पापा के सर को पकड़कर चूत में दबा रही थी. फिर वो ऊपर आए और गाउन को उतार दिया और पेंटी को भी उतार दिया. अब उसके बूब्स दिखने लगे जो काली ब्रा में क़ेद थे. वो उनको पकड़कर ज़ोर ज़ोर से दबाने लगे और फिर ब्रा को भी निकाल दिया. अब वो होंठो पर अपने होंठ लगाते हुए किस करने लगे, लेकिन अभी भी मेरी बीवी की आँखे बंद थी और मेरे पापा ने किस करते हुए उनके कपड़े भी धीरे धीरे पूरे उतार दिए. अब पापा को बिल्कुल भी डर नहीं था और अब पापा का लंड श्वेता की चूत को दबा दबाकर रगड़ रहा था और मेरी बीवी झटका मार रही थी. ना जाने कितनी बार उनका पानी निकल गया होगा.

फिर अचानक लंड का सुपाड़ा फिसलता हुआ सीधा अंदर चला गया क्योंकि चूत पानी से पूरी भरी हुई थी और लंड के चूत के अंदर जाते ही वो बेड शीट को पकड़कर मचल उठी और और हाँ दोस्तों में आपको बताना ही भूल गया कि मेरी बीवी की चूत इतनी टाईट है कि में जब उसे चोदता हूँ तो वो साली बहुत ज़ोर से चीखती, चिल्लाती ही रह जाती है क्योंकि मेरे लंड की गोलाई 3 इंच है और मेरे पापा की 4 इंच की थी. तभी वो एकदम से चकित हो गई और बोली कि मयंक तुम्हारा लंड इतना मोटा कैसे हो गया? अब धीरे धीरे पापा ऊपर नीचे होने लगे तो मेरी बीवी को बहुत दर्द हुआ क्योंकि आज पहली बार किसी का मोटा और लंबा लंड उसकी चूत के अंदर जा रहा था और वो तुरंत ही चिल्लाते हुए बोली उह्ह्ह्हह्ह मयंक रुको थोड़ा आह्ह्ह्हह्ह मयंक आईईईइ में मरी प्लीज रुको.

पापा के मुहं से अचानक निकल गया कि बोलो मत वर्ना सब लोग जाग जाएगे और अब उसको पूरा विश्वास हुआ कि यह मयंक नहीं है तो उसने उनका मोबाईल हाथ में ले लिया और लाईट चालू करके देखा तो वो पापा को अपनी चुदाई करते हुए देखकर उन्हें अपने ऊपर से हटाने लगी. फिर पापा ने उसे इस तरह कसकर पकड़ लिया था कि वो थोड़ा सा हिला भी नहीं पा रही थी. जब मेरी बीवी शांत हुई तब पापा ने लंड को चूत के अंदर से बाहर निकाला और श्वेता के दोनों हाथ पकड़कर बोले कि अगर तुमने दस मिनट तक अपनी चूत से पानी नहीं छोड़ा तो में तुझे नहीं चोदूंगा और वो कुछ नहीं बोली सिर्फ़ रोते रोते हाँ बोली और पापा ने पहले चूत को पूरी तरह साफ किया जुर फिर मोबाईल में टाईम दिखाया और उसके होंठो को चूमने लगे.

फिर मेरी बीवी के हाथ छोड़ दिए और बूब्स को पकड़कर दबाने लगे और अब मेरी बीवी अपने आपको कंट्रोल कर रही थी, लेकिन अब उनका लंड भी चूत को रगड़ रहा था और मेरी बीवी ने मोबाईल में देखा तो सिर्फ़ तीन मिनट हुए थे. अब उन्होंने होंठो को चूस चूसकर बूब्स को पकड़ लिया और अब लंड चूत के दाने को ज़ोर ज़ोर से रगड़ रहा था. आख़िर एक महिला होने से वो कंट्रोल नहीं कर पा रही थी और अचानक उसने मोबाईल में वापस देखा तो सिर्फ़ अब तक 6 मिनट हुए थे अब पापा ने बूब्स को जैसे ही मुहं में लिया तो मेरी बीवी ज़ोर ज़ोर से रोने लगी और ऊपर नीचे होने लगी. फिर इतने में वो ऊपर की तरफ देखकर बोली कि मयंक मुझे माफ़ कर देना और वो इतने झटके के साथ ऊपर उठी कि चूत में से बहुत सारा पानी निकल आया और पापा हंसते हुए बोले कि अब में जीत गया हूँ और तुम्हे मेरा साथ देना होगा ठीक है और मेरी बीवी ने रोना बंद किया.

अब पापा मेरी बीवी की चूत के होंठो को पकड़ कर लंड को चूत के ऊपर रगड़ रहे थे. इस बीच उन्होंने मेरी बीवी को वापस झटका मारा तो लंड ना चाहते हुए भी अंदर सरक गया और पूरी चूत पानी से भरी हुई थी. अब पापा ने झटके लगाने शुरू किए और उन्होंने मेरी बीवी को पैर फैलाने को कहा और जैसे ही उसने अपने दोनों पैर फैलाया तो पापा लंड को एक झटके के साथ अंदर, बाहर करने लगे. वो इतनी ज़ोर ज़ोर से झटके मार रहे थे कि मेरी बीवी की चूत से अब पानी ही पानी बाहर आ रहा था और अब उसने भी धीरे धीरे पैरों को ढीला किया और पापा की गांड के ऊपर रख दिया. अब पापा का पूरा लंड, चूत में था और पछ पछ की आवाज़ आ रही थी और अब लगातार चुदाई करते हुए उन्हें एक घंटा हो गया और पापा ने अपना वीर्य चूत के अंदर ही छोड़ दिया.

फिर वो मेरी बीवी के ऊपर ही पड़े रहे और थोड़ी देर बाद वो उठे और कपड़े पहने और वो बोले कि मयंक को मत बताना. तब मुझे ऐसा लगा कि वो बाहर निकलेगें तो में दरवाजे से बाहर चला गया और नाटक करके अंदर आया. फिर पापा मुझसे बोले कि बेटा तू अब तक कहाँ था? तो मैंने कहा कि में अपने किसी दोस्त के घर पर था. वो बोले ठीक है चल रूम में जाकर सो जा और में जैसे तैसे जाकर हंसते हुए मेरी बीवी से बोला हैल्लो सेक्सी मुझे आज चोदना है. तो वो बोली कि नहीं मुझे अब बहुत नींद आ रही है सेक्स हम कल करेंगे.

फिर वो उठकर पेशाब करने बाहर गई तो मैंने लाईट को चालू किया तो देखा कि पूरी बेड पर मेरी बीवी की चूत का पानी था और थोड़ा खून भी था और मैंने तय किया कि आज के बाद बीवी को अकेला कभी नहीं छोडूंगा और उसके बाद मैंने आज तक अपनी बीवी को कभी भी अकेला नहीं छोड़ा, क्योंकि उस पर मेरे पापा की नजर थी और वो खुद भी लंड की बहुत भूखी थी.

Updated: February 4, 2016 — 3:09 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


mili (2015 film)antarvasna hindi story 2010sex in chennaidesi sex .comchudai kahaniyanangi???www antarvasna in hindisexy story in hindiaunty braantarvasna wallpaperantarvasna hindixxx kahanichodan.comsasur bahu sexantarvasna kathaantarvasna big pictureold aunty sexantarvasna hindi sexy kahaniantarvasna rapeantarvasna sexstory comindian lundmom son sex storiesantarvasna boynew desi sexanterwasna.comhindi storybhabi ki chudaixossipyaunty ko chodatight boobsindian sex kahaniaunt sexsexy storiessex khanimaa bete ki antarvasnalatest antarvasnaantarvasna bahukamukta. combur chudaikamwali baihot sexy boobsmy hindi sex storyantarvasna sex hindidesichudaiantarvasna 2mobile sex chatmaa bete ki antarvasnachudai picfree hindi sex storydesi sex kahaniantarvasna com 2015old antarvasnabest indian pornantarvasna behansex stories indianhot sex storysexy hindi storiesantavasnasali ki chudaisex with momfree indian sex storiesjiji maahindi chudai storyantarvasna with picssasur antarvasnaxxx chutauntys sexchudai storyxxx sex storiessex chatantarvasna long storysambhog katha