Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

कॉलेज की माल मैडम की गर्मी को निकाला

desi sex stories

मेरा नाम राजीव है और मैं कॉलेज में पढ़ने वाला छात्र हूं, मेरी उम्र 23 वर्ष है। मेरे माता पिता का मैं बहुत ही लाड़ला हूं क्योंकि मैं घर में इकलौता हूं इस वजह से वह लोग मुझे बहुत ही प्यार करते हैं और बचपन से ही मुझे उन्होंने हर चीज दी है परंतु पहले मेरे पिता की स्थिति कुछ ठीक नहीं थी, उनका काम भी अच्छे से नहीं चल रहा था जिस वजह से उन्हें बहुत ही नुकसान झेलना पड़ रहा था, उसके बावजूद भी वह मेरी खुशियों का पर पूरा ध्यान दिया करते थे। मैं उन्हें बचपन से देखता रहा हूं कि वह कितनी मेहनत करते हैं और इतनी मेहनत करने के बाद उन्हें सफलता मिली है।

वह मुझे कहते हैं कि जितनी मेहनत मैंने की है, मैं नहीं चाहता हूं कि तुम भी उतनी ही मेहनत करो और अपने जीवन को अच्छे से जिओ क्योंकि यदि तुम काम में ही लगे रहोगे तो अपने लिए तुम्हें समय निकालना बहुत ही मुश्किल हो जाएगा। मेरी मम्मी भी मुझे किसी चीज के लिए नहीं रोकती क्योंकि उन्हें भी पता है कि वह लोग अपना जीवन अच्छे से नहीं जी पाए है और अपने जीवन में वह लोग बहुत सारी चीजें नहीं कर पाए। वह चाहते हैं कि अपने जीवन मे मैं वह सब करूं क्योंकि मेरे पापा ज्यादा पढ़ भी नहीं पाए, उनके ऊपर बहुत ही जिम्मेदारियां आ गई थी इसी वजह से उनकी पढ़ाई भी आधे में ही छूट गई और उसके कुछ समय बाद ही उनकी शादी हो गई थी। जब मेरी मम्मी मुझे मेरे पापा के बारे में बताती है तो मुझे भी यह सब सोच कर बहुत ही आश्चर्य होता है कि उन्होंने इतनी मेहनत की, उसके बाद भी वह बिल्कुल भी गुस्सा नहीं होते और उनका स्वभाव बहुत ही शांत है। मेरे दोस्त मेरे घर पर भी अक्सर आते रहते हैं और वह जब मेरे पापा से मिलते हैं तो कहते हैं कि तुम्हारे पापा का नेचर बहुत ही अच्छा है। मुझे बहुत अच्छा लगता है जब वह इस प्रकार से मेरे पापा की तारीफ किया करते हैं। मेरे कॉलेज में मेरी एक गर्लफ्रेंड भी है, उसका नाम सुरभि है।

हम दोनों का रिलेशन किसी फिल्म स्टोरी से कम नहीं है क्योंकि जब वह हमारे कॉलेज में आई थी तब मैं उससे बिल्कुल भी बात नहीं किया करता था और वह मेरी सीनियर भी थी इस वजह से  मुझे उससे बात करने में बहुत ही डर लगता था और मैंने उससे कभी भी बात नहीं की परंतु एक दिन ना जाने मेरे अंदर कहां से हिम्मत आ गई और मैं उसके पास सीधा ही बात करने के लिए चला गया। जब मैं उसके पास गया तो वह मुझे कहने लगी कि तुम्हें मुझसे कुछ काम है, मैंने उसे कहा कि नहीं मुझे आपसे कोई भी काम नहीं है मैं आपको पसंद करता हूं और यह बात मैं आपको बताना चाहता था इसलिए मैंने अपने दिल की बात उसे बता दी। जब मैंने उससे इस प्रकार की बात की तो उसने मुझे एक थप्पड़ मार दिया और सबके सामने मेरी बहुत बेइज्जती हो गई थी लेकिन फिर भी मैंने ठान लिया था कि मैं सुरभि से बात कर कर ही रहूंगा और उसके साथ इस रिलेशन को आगे बढ़ा कर रहूंगा लेकिन जब भी मैं उससे बात करता हूं तो वह मेरी तरफ देखती तक नहीं थी और मुझे कहती थी कि यदि तुमने मुझसे दोबारा बात करने की कोशिश की तो मैं तुम्हारी शिकायत कॉलेज प्रशासन में कर दूंगी और उसके बाद तुम्हारा रिस्टिकेशन हो जाएगा। मैं उसे कहता था कि तुम्हें जो भी करना है तुम वह कर लो लेकिन तुम मुझे पसंद हो इसीलिए मैं तुमसे रिलेशन रखना चाहता हूं और मैंने अपने दिल की बात तुम्हे बता दी है। मैं उसके पीछे दो साल तक पडा रहा लेकिन फिर भी उसने मुझे हां नहीं कहीं और ना ही वह मुझसे बात करती थी। जब भी मैं उसे देखता तो वह  अपना रास्ता बदल दिया करती थी लेकिन फिर भी मैं उसके पीछे ही जाता रहता था। मुझे भी कई बार ऐसा लगता था कि शायद सुरभि कभी भी इस रिलेशन के लिए हामी नहीं भरेगी लेकिन फिर भी उसने हार मान ली और एक दिन उसने भी मुझे कह दिया कि मैं भी तुमसे प्यार करती हूं। जब उसने मुझसे यह बात कही तो मैं बहुत ही खुश हुआ और कहने लगा कि मुझे तुमसे बात करना भी बहुत अच्छा लगता है और मैं अब उसके साथ ही रहता था। हम दोनों का रिलेशन पूरे कॉलेज को ही मालूम था इसलिए सब हम दोनों को लैला मजनू कह कर बुलाते थे और पूरा कॉलेज हमें छेड़ता रहता था।

हम जब भी कॉलेज में होते तो सब लोग हमें पूछते थे कि तुम लोग शादी कब कर रहे हो, मेरा एक ही जवाब होता था कि अभी मुझे थोड़ा और समय चाहिए उसके बाद ही मैं शादी के बारे में विचार कर सकता हूं क्योंकि सुरभि भी यही चाहती थी और वह भी अपने जीवन में कुछ अच्छा करना चाहती थी। वह मुझसे हमेशा कहती थी कि मुझे किसी अच्छे संस्थान में नौकरी करनी है, मैं भी उसका हमेशा साथ दिया करता था और हम लोग अक्सर कहीं ना कहीं घूमने के लिए चले जाते थे। एक दिन हम लोग मॉल में शॉपिंग के लिए गए हुए थे। जब हम लोग शॉपिंग कर रहे थे उसी वक्त एक महिला बड़े ही ध्यान से हम दोनों को देख रही थी। मुझे ऐसा लग रहा था जैसे वह मुझे जानती है लेकिन जब मैंने उनसे इस बारे में पूछा कि आप हमें इतना ध्यान से क्यों देख रहे हैं, तो वो कहने लगी की आजकल के  लड़के लड़कियों ने तो पूरा माहौल ही खराब कर रखा है। मैंने उनसे पूछा कि आप इस प्रकार की बातें क्यों कर रही हैं मुझे उन पर बहुत ही गुस्सा आया और मैंने भी उन्हें बुरा भला कह दिया। मुझे सुरभि ने कहा कि तुम बेकार में इनके मुंह मत लगो और फिर हम लोग वहां से चले गए। उसके बाद जब मैं घर पहुंचा तो मुझे उस महिला का चेहरा दिखाई दे रहा था और वह जिस प्रकार से हमें बातें सुना रही थी वही मुझे ध्यान में आ रही थी। काफी समय बीत जाने के बाद एक दिन वही महिला मुझे मेरे कॉलेज में दिखाई थी, वह मुझे बहुत ही घूर कर देख रही थी। मैं भी उन्हें बहुत गुस्से से देख रहा था लेकिन उस दिन मैंने उनसे बात नहीं की, मुझे नहीं पता था कि वह कौन है और हमारे कॉलेज में क्या कर रही हैं।

जब वह हमारे क्लास में आई तो मुझे लगा शायद वह किसी के रिलेशन में होगी और उनसे मिलने आई होगी लेकिन जब उन्होंने हमें पढ़ाना शुरू किया तब मुझे पता चला कि यह तो हमारी मैडम है और उनका नाम शगुन है। मेरी तो हालत ही खराब हो गई और मैं सोचने लगा कि लगता है इस बार तो मैं फेल ही हो जाऊंगा। मैंने उन्हें मॉल में बहुत ही बुरा भला कह दिया था मैं बहुत ही डर गया था। उसके बाद मैंने उन्हें सॉरी बोलने की भी कोशिश की लेकिन वह मुझे कहने लगी कि तुम्हें किसी भी महिला से बात करने की तमीज नहीं है, मैं तुम्हें इस वजह से घूर रही थी कि तुम्हारे साथ में जो लड़की थी उसने बहुत ही छोटे कपड़े पहने हुए थे और उसको सब लोग को देख रहे थे, मैं तुम्हें वह चीज बताना चाह रही थी लेकिन तुमने तो मेरी बात को कहीं और ही मोड़ दिया और उसके बाद तुमने मुझे बहुत ही बुरा भला कहा। मुझे लग चुका था कि वह मुझसे बहुत ही गुस्सा हैं लेकिन मैंने उन्हें फिर भी मनाने की कोशिश की और उन्हें कई बार सॉरी कहा। उनका नेचर बहुत ही अच्छा था। उन्होंने कहा कि चलो कोई बात नहीं तुम्हें भी उस दिन मेरी बात को गलत ले लिया और मैंने भी तुम्हारी बात को गलत ले लिया। अब मैडम से मेरी बहुत अच्छी बातचीत हो गई थी और शगुन मैडम जब भी कॉलेज में होती तो वह बहुत ही खुश रहती थी और जब मैं उनसे बात करता तो उन्हें बहुत अच्छा लगता था। वह एक शादीशुदा महिला थी और उनके पति भी दूसरे कॉलेज में प्रोफेसर थे। उन्हें मेरे और सुरभि के बारे में सब कुछ पता था इसलिए वह मुझसे पूछ लेती थी कि तुम दोनों का रिलेशन कैसे चल रहा है।

मैंने कहा था कि हम दोनों पर रिलेशन बहुत ही अच्छा चल रहा है। एक दिन उन्होंने मुझे अपने ऑफिस बुला लिया और मुझसे पूछने लगी कि तुम लोग आपस में बहुत ही ज्यादा प्यार करते हो मैंने उन्हें कहा कि हम लोगों के बीच में बहुत ही प्यार है। वह मुझे पूछने लगी कि तुम लोगों के बीच में कभी सेक्स भी हुआ है तो मैंने उन्हें कहा कि एक बार सेक्स हुआ है। मुझे उनकी आवाज में ऐसा लग रहा था जैसे वह भी सेक्स के लिए तड़प रही है। मैंने जैसे ही उनके स्तनों पर हाथ लगाया तो वह मचल उठी और मैंने उनके होठों को चूसना शुरू कर दिया। मै उनके होठो को बहुत अच्छे से अपने मुंह से किस कर रहा था और उनकी उत्तेजना पूरी चरम सीमा पर पहुंच चुकी थी। मैंने भी तुरंत अपने लंड को बाहर निकालते हुए उनके मुंह में डाल दिया और वह बहुत अच्छे से मेरे लंड को सकिंग करने लगी।

उन्होंने मेरे लंड को इतने अच्छे से चूसा की मेरा पानी निकलने लगा। मैंने भी उनके कपड़ों को खोलते हुए उनकी योनि को चाटना शुरू कर दिया। मैं जब उनकी योनि को चाटे जा रहा था तब मुझे बड़ा ही अच्छा लग रहा था उनकी योनि से पानी आ रहा था। उनसे बिल्कुल भी नहीं रहा गया और उन्होंने मेरे लंड को पकड़ते हुए अपनी चूत में डाल दिया। मैंने भी उनके दोनों पैरों को कसकर पकड़ लिया और उन्हें धक्के देने लगा। मैंने जब  उन्हें धक्के मारे तो उनका शरीर पूरा हिल रहा था और मैं उनके स्तनों का रसपान कर रहा था। उनकी योनि से भी बड़ी तेज गति से पानी निकल रहा था और मैं उन्हें उसी गति से धक्के मार रहा था। मैंने उनके दोनों पैरों को बहुत चौड़ा कर लिया और उन्हें धक्के मारने लगा। उनसे बिल्कुल भी नहीं रहा जा रहा था अब मैंने उनके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रख लिया। मैने उन्हें इतनी तेज से धक्का मारा कि उनकी चूतड़ों मुझसे टकरा रही थी और उनकी आवाज निकलने लगे। लेकिन एक समय बाद मेरा माल गिर गया जैसे ही मेरा माल गिरा तो वह बहुत ही खुश हो गई। वह कहने लगी तुमने मेरी इच्छा को पूरा कर दिया जब भी मैं शगुन मैडम को चोदता तो वह बहुत ही खुश होती थी। मैं सुरभि  को भी चोदता था और शगुन मैडम के साथ भी संभोग करता था।

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


kahaniya.comantarvasna.comantarvasna with bhabhiodia sex storiessex with momsexi kahanichoda chodilatest antarvasna storyantarvasna rapesex storesantarvasna ichudai ki khanisex story marathihindi antarvasna sexy storyjismantarvasna long storyantarvasna in hindisexy hindi story antarvasnagujarati antarvasnachudai kahaniantarvasna mp3 downloaddesi cuckoldsex khaniland ecsexy stories hindiantarvasna maa ki chudaisethjiantarvasna hindisexstoriesantarvasna storiesmom and son sex storieshindisex storyantarvasna gay videosantarvasna real storychodan.comsex in trainchudai ki khanibhabi sexsexy stories in tamilmastram hindi storiesantervashna.combhabhi ki chut????? ????? ??????bhabhi devar sexmastaram.netantarvasna full storynew desi sexxxx kahanimaid sex storiesbhabhi chudaihindi sex kahani antarvasnaantarvasna bap betichachi antarvasnaantarvaasnadesi mom sexsaree sexyantarvasna hindi bhai bahanmomxxx.combest sex storiesantarvasna com storyantarvasna c9mantarvasna machut ki chudaisex khaniyachut antarvasnareal sex storygujrati sexindian sex websitespunjabi girl sexgujarati sex storiessex comics in hindichodan.comdesi new sexindian boobs pornhindi sex mmsofficesexantarvasna audio sex storyindian erotic storiessumanasa hindiantarvasna sax???? ?? ?????antarvasna girlantarvasna audiohindi sex storesantarvasna xmeraganaantarvasna sasur bahudesi choot????? ?????group sex indianantarvasna indiansex stories in englishwww antarvasna hindi stories comcil mt pagalguysex hot