Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

मेडम ने निराली चूत का भोसड़ा बनवाया

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम रितेश है और मेरी उम्र 28 साल है. में दिल्ली का रहने वाला हूँ और में एक मल्टीनेशनल कंपनी में जॉब करता हूँ. में आज तक न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी सरिता विहार में लगभग 15 भाभियों को चोद चुका हूँ और वो मेरी चुदाई से बहुत सॅटिस्फाइड होती है, क्योंकि में चुदाई सिर्फ़ चुदाई के लिए नहीं करता बल्कि पूरी संतुष्टी देना मेरी आदत है. दोस्तों आज में आपको एक ऐसी कहानी बता रहा हूँ जो बिल्कुल सच्ची है.

मेरी टीचर राधिका मेम मेरी 11वीं क्लास में साइन्स पढ़ाती थी, लेकिन में साइन्स में बहुत कमजोर था इसलिए मैंने मेम से आग्रह किया कि वो मुझे होम कोचिंग दे क्योंकि मेरे पापा के पास पैसों की कोई कमी नहीं थी, इसलिए वो मान गयी और मेरे घर पढ़ाने आने लगी.

एक दिन में घर में अकेला था, तो वो बोली कि रितेश आज चलो में तुम्हें रिप्रोडक्षन सिस्टम पढ़ाती हूँ तो मैंने कहा कि ओके मेम. मेम बोली कि रितेश रिप्रोडक्षन सिस्टम को जनन कहा जाता है, इसमें मादा और पुरुष के जनन पार्ट हिस्सा लेते है. मैंने पूछा कि मेम ये जनन पार्ट क्या होता है? तो मेम बोली कि रितेश देखो शरीर के निचले हिस्से में तुम्हारा जनन पार्ट है और मेरे शरीर के निचले हिस्से में मेरा जनन पार्ट है. लड़को के जनन पार्ट को लंड कहते है और लड़कियों के जनन पार्ट को चूत कहते है. एक काम करो तुम खड़े हो जाओ, में तुम्हें दिखाती हूँ.

में खड़ा हो गया और में उस दिन जीन्स पहने हुए था. मेडम ने मेरी जीन्स के हुक को खोल दिया और मेरी चैन को नीचे किया और मेरी जीन्स को नीचे गिरा दिया. अब में कच्ची में था, तो मेम बोली कि रितेश ये कच्ची उतार दो. मैनें पूछा कि वो क्यों मेम? तो मेम बोली कि रितेश तुम्हारा जनन पार्ट इसी कच्ची के अंदर है. मैंने कहा कि लेकिन मेम वो तो मेरी नूनी है जिससे में पेशाब करता हूँ.

मेम बोली कि रितेश दिखाओ तो कैसा है? तो मैंने कहा कि ओके मेम में खोलता हूँ और मैंने अपनी कच्ची अलग कर दी, तो मेम बोली कि वाउ रितेश तुम्हारी नूनी तो बड़ी गोरी और टाईट है, देखो इसी नूनी को लंड कहते है ये जनन पार्ट का एक अहम हिस्सेदार है और बोली कि तुम्हारा लंड अब इस काबिल हो चुका है की वो रिप्रोडक्षन सिस्टम का हिस्सा बन सके, यह लंड मादा की चूत के अंदर जाकर उसे चोदता है तो थोड़ी देर तक चुदाई करने के बाद मादा की चूत में यह अपने पानी को गिरा देता है इसी से बच्चा पैदा होता है. मैंने कहा कि लेकिन मेम लंड से तो पेशाब बाहर निकलता है तो क्या इस पेशाब से बच्चा पैदा होता है?

मेम बोली कि रितेश तुम अभी बहुत बच्चे हो, देखो और मेडम ने अपनी समीज को ऊपर उठाकर अपनी सलवार की तरफ दिखाते हुए कहा कि इसके अंदर मेरी चूत है, पहले जब मेरी शादी नहीं हुई थी तो इसे हम बुर कहते थे और जब मेरी शादी हो गयी तो यह बुर लंड से चुदने लगी, तो अब हम इसे चूत कहते है. उसने अपनी सलवार का नाड़ा खोल दिया और एक ही झटके में अपनी सलवार को अपनी कमर से अलग कर दिया. अब मेम ने अपनी सलवार के नीचे लाल रंग की पेंटी पहनी हुई थी.

वो बोली कि रितेश इधर आओ और अपने हाथ को इस पेंटी के अंदर डालो. मैंने कहा कि जी मेम और मैंने अपना एक हाथ अंदर डाला, ओह माई गॉड इट्स सो हॉट तो मैंने तुरंत अपना हाथ बाहर निकाल लिया और मेम से बोला कि इसके अंदर इतनी गर्मी और भीगा हुआ है, क्या आपने पेशाब कर दिया है? तो मेम बोली कि नहीं रितेश, देखो और मेम ने अपनी पेंटी को उतार दिया और कहा कि ये मेरी चूत है और इसमें ऊपर काले रंग के बाल होते है इसे मैंने साफ कर दिया है, देखो यहाँ गहराई है ना.

मैंने कहा कि हाँ मेम ये तो नहर के जैसा है, दोनों बगल बाँध है और बीच में गहराई है. तो मेम बोली कि हाँ रितेश, इसी को चूत कहते है और तुम्हारा लंड इसी चूत में जाकर चोदेगा तो उसे चुदाई कहेंगे, चलो अब में तुम्हें प्रेक्टिकल करके दिखाती हूँ और मेम अपने पैरो को फैलाकर टेबल के बल खड़ी हो जाती है और बोली कि अब तुम अपना लंड इस चूत में डालो.

मैंने कहा कि लेकिन मेम बच्चा पैदा हो गया तो. तो मेम बोली कि कोई बात नहीं, में उसे पैदा नहीं होने दूँगी. में बोला कि लेकिन मेम मेरा तो लंड टाईट है और अगर यह आपकी चूत को फाड़ देगा तो? मेम बोली कि नहीं फाड़ेगा जब तुम उसे इसमें डालोगे तो यह अंदर चला जाएगा, तो में बोला कि ओके मेम.

मेम अपने दोनों पैरो को फैलाकर टेबल के बल खड़ी हो गयी, तो मैंने अपना लंड मेडम की चूत के मुहाने पर रखा और धीरे से एक धक्का दिया तो मेरा लंड सरकता हुआ मेडम की चूत में चला गया. तो मेम के मुँह से आवाज निकली ओह, आहह, रितेश धीरे-धीरे डालो, बड़ा टाईट लंड है तुम्हारा, मेरी चूत फाड़ डालेगा.

में बोला कि ओके मेम और मैंने धीरे से दबाया तो मेरा पूरा का पूरा लंड मेम की चूत में चला गया. मेम के मुँह से आवाज निकल गयी हम्म रितेश, अब अपने लंड को बाहर खींचकर थोड़ा अंदर डालो. में बोला कि जी मेम और मैंने अपने लंड को थोड़ा बाहर खींचकर से अंदर डाला. अब मुझे बहुत अच्छा लग रहा था और अब मेम ने अपनी आँखे बंद कर ली थी.

मैंने मेम से पूछा कि कैसा लग रहा है? तो मेम बोली कि रितेश इसे ही चोदना कहते है, जब चूत में लंड आगे पीछे होता है तो देखो चूत से पानी निकलता है और चुदाई होती है, डालो और अंदर डालो, थोड़ा और अंदर दबाओ, आहह बड़ी अच्छी तरह से चुदाई कर रहे हो तुम, थोड़ा दाएँ से मारो, थोड़ा दाएँ और थोड़ा, हाँ डालो चूत के अंदर और थोड़ा डालो, म्‍म्म्मममममम रितेश तुम्हारा लंड तो वाकई में जवान है, पेलो इसे और पेलो.

अब मुझे भी बहुत मज़ा आ रहा था, अब मेरा लंड वाकई में टाईट हो गया था. अब मेरे शरीर में एक अजीब सी कसावट पैदा हो गयी थी और ना जाने क्या हो गया? मैंने मेम से पूछा कि मेम आपकी चूत को मेरा लंड चोद रहा है कि पेल रहा है. मेम बोली कि रितेश तुम्हारा लंड मेरी चूत को पेल रहा है और मेरी चूत तुम्हारे लंड से चुद रही है, रितेश रूको अपने लंड को थोड़ा बाहर निकालो में घोड़ी बन जाती हूँ, तुम पीछे से पेलो, तो में बोला कि ओके मेम. अब मेम अपने दोनों हाथों को जमीन के बल करके घोड़ी बन गयी थी.

मैंने अपना लंड उनकी चूत में पीछे से लगाया और पेलना शुरू किया. तो मेम बोली कि हाँ रितेश आह बड़ा मज़ा आ रहा है, चोदो और चोदो. में बोला कि ओके मेम आज में आपकी चूत को अपने लंड से फाड़ दूँगा. में इसे नहीं छोडूंगा, ये लो मेम मेरा धक्का. मेम बोली कि हाँ रितेश फाड़ डालो इसे, पूरी तरह चोद दो आज, मेरी चूत बड़ी प्यासी है, आह, ऊऊऊफफफ लंड हो तो ऐसा और ज़ोर से चोदो, तुम वाकई में मेरे प्यारे स्टूडेंट हो, आज अपनी मेम की चूत की प्यास बुझा डालो. में बोला कि आज में आपकी चूत को चारो तरफ से चोदूंगा, इसका कचूमर निकाल दूँगा, मेम बड़ी मस्त चूत है आपकी, ऐसा लग रहा है में पिस्टन चला रहा हूँ, ये लो मेम मेरा धक्का, मेम बहुत अच्छा लग रहा है, मेम एक बात कहूँ आपकी चूत बड़ी निराली है.

मेम बोली कि हाँ चोदो इस निराली चूत का भोसड़ा बना डालो और इस निराली चूत को चोदो, पेलो और ज़ोर से अंदर डालो, हाँ रितेश ऐसे ही पेलते रहो, पेलते रहो अपने लंड को मेरी चूत में, पेलते रहो और थोड़ा दबाकर.

में बोला कि हाँ मेम मुझे बहुत अच्छा लग रहा है आहह. मेम बोली कि हाँ रितेश मुझे भी बहुत अच्छा लग रहा है और यह चुदाई का खेल करीब 15 मिनट तक चलता रहा.

में मेम से बोला कि मेम मेरे लंड से कुछ निकलने वाला है. तो मेम बोली कि ओके अपने लंड को बाहर निकालो. में बोला कि जी मेम और मैंने अपने लंड को बाहर निकाला तो पचक से एक धार मेरे लंड से बाहर आने लगी.

मेम ने उसे अपने मुँह में ले लिया और अपनी जीभ से चाटकर साफ किया और बोली कि देखो रितेश यह वो पानी है जो अगर मेरी चूत के अंदर गिर जाता तो बच्चा पैदा हो जाता, आहह रितेश वाकई में तुम बहुत अच्छा चोदते हो. में बोला कि थैंक्स मेम.

मेम बोली कि रितेश अब अपने कपड़े पहन लो, तो में बोला कि जी मेम और हम दोनों ने अपने-अपने कपड़े पहन लिए. मेम बोली कि रितेश तो समझ में आया रिप्रोडक्षन सिस्टम, तो में बोला कि हाँ मेम, तो मेम बोली कि ओके रितेश अब में चलती हूँ.

Updated: March 21, 2017 — 6:58 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


indian gaandantarvasna,comantarvasna gay videobhosdaantarvasna phone sexsex story in marathihindisex storychodnabhabhi sexysamuhik antarvasnaantarvasna wwwromance and sexsex storesold aunty sexantarvasana.comantarvasna chudai photosex stories indiawww antarvasna sex storymomxxx.comdesi sex imagesnew antarvasna hindi storyantarvasna antihot sex storymili (2015 film)kamukta sex storyantarvasna com hindi kahaniantarvasna hindi hot storybest sex storiesantarvasna hindi sexy kahaniyaindian sex desi storiesgay sex storiesantarvasna in hindiforced sex storieswww antarvasna video comsasur antarvasnaantarvaasnapapa ne chodasexy hindi story antarvasnadesi porn.comhot boobs sexantarvasna hindi bhai bahanantarvasna naukar????? ??????chudayibhabhi sexyantarvasna in audiodesi porn.comantarvasna picsantarvsnakamsutrachudayihindi sex stories antarvasnalesbian sex storiessex in trainantarvasna bahumom sex storiesindianauntysexmaa ki antarvasnasaree aunty sexteacher sexbhabhi sex storiesantarvasna in hindi storysexy story hindiporn storiessavita bhabhi sexsexkahaniyahindi porn storiessex sagarantarvasna hindi kahanigay sex storybus sex storiesantarvasna bahan ki chudaixossip requestshort stories in hindiantarvasna mp3 downloadantarvasna audioantarvasna hindi storiessex khanikhet me chudaidesi sex storytamil aunty sex stories