Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

मेहंदी वाले दिन भाई की साली को चोदा

desi porn kahani

मेरा नाम हर्षित है और मेरी उम्र 22 वर्ष है। मैं फरीदाबाद का रहने वाला हूं, मेरे घर में मेरे माता पिता और मेरे बड़े भैया हैं जो कि उम्र में मुझसे बहुत ही बड़े हैं और उनकी शादी को भी 10 वर्ष हो चुके हैं। मेरे भैया का नाम अरविंद है और मेरी भाभी का नाम की थी का है। उनके दो छोटे बच्चे भी हैं जो कि घर में बहुत ही शरारते किया करते हैं जिससे की हमारे सारे घर वाले परेशान रहते हैं लेकिन उनके बिना अब घर में किसी का भी मन नहीं लगता। मेरी भाभी जब भी अपने मायके जाती है तो हमारे घर में सब लोग बोर हो जाते हैं और उनके बिना घर सूना सूना सा लगता है, वह सब को बहुत परेशान करते हैं। मेरे पापा भी रिटायर हो चुके हैं और उन्हें रिटायर हुए 5 वर्ष हो चुके हैं इसलिए उनका घर में मन नहीं लगता लेकिन वह बच्चों के साथ अपना मन बदल लिया करते हैं और मेरी मां भी छोटे बच्चों के साथ मन बहला कर अपना समय बिता लेती है।

मैं भी अपनी पढ़ाई कर रहा हूं इसलिए मैं घर पर ज्यादा नहीं रहता हूं और भैया भी नौकरी करते हैं इस वजह से वह भी घर पर ज्यादा समय नहीं दे पाते है। घर पर सिर्फ भाभी, उनके बच्चे और मेरे माता-पिता ही रहते हैं। भैया बहुत ही अच्छे हैं और मैं उनसे बहुत ज्यादा डरता हूं क्योंकि वह बहुत ही गुस्से वाले हैं। वह मुझे बहुत अच्छा भी मानते हैं लेकिन जब मुझसे कोई गलती हो जाती है तो वह मुझे बहुत डांटते हैं इसलिए मुझे घर में उन्हें देखकर बहुत ही डर लगता है। मेरी मां बहुत ही शांत स्वभाव की हैं और वह बहुत ही हंसमुख है इसलिए मैं उनसे कभी भी आज तक नहीं डरा और मैं अपने कॉलेज हमेशा ही जाता हूं, मैं कभी भी कोई क्लास मिस नहीं करता और ना ही कभी बंक मारता हूं। कभी कबार ऐसा हो जाता है की मुझे कॉलेज जाने में देरी हो जाती है पर फिर भी उसके बावजूद मैं कॉलेज हमेशा ही जाता हूं। कॉलेज में मेरे बहुत सारे दोस्त हैं जो कि मुझे बहुत अच्छा मानते हैं और मैं भी अपने दोस्तों की मदद के लिए हमेशा उनके साथ रहता हूं। वह लोग अक्सर हमारे घर पर आते रहते हैं और मैं भी उनके घर पर जाता रहता हूं कॉलेज में जितने भी टीचर हैं वह सब हमें बहुत ही अच्छा मानते हैं और हमारी हमेशा ही मदद किया करते हैं। हमें कभी भी पढ़ने में किसी प्रकार की कोई दिक्कत हो जाती है तो हमारे टीचर उसमें हमारी बहुत ही मदद कर देते हैं और कहते हैं कि तुम सब बहुत ही अच्छे हो इसलिए हम लोग तुम्हारी मदद करते हैं।

कॉलेज में जब भी हमारे प्रैक्टिकल होते हैं तो उनमें मुझे हमेशा ही अच्छे नंबर मिलते हैं और मेरे पढ़ाई के दौरान भी अच्छे मार्क्स आते हैं जिससे मेरे पापा बहुत ही खुश होते हैं और मेरी मां भी बहुत खुश रहती हैं। मेरे भैया मुझे हमेशा ही समझाते हैं और कहते हैं कि जब तुम्हारी पढ़ाई पूरी हो जाएगी उसके बाद तुम एक अच्छी नौकरी कर पाओगे इसलिए तुम अभी से मेहनत करो और मैं भी बहुत ही मेहनत करता हूं। मैं जब भी घर पर होता हूं तो मैं छोटे बच्चों के साथ में खूब मस्तियां करता हूं और जमकर हम लोग मजे करते हैं। एक बार भैया की साली हमारे घर पर आई। उसका नाम विदिशा है और वह बहुत ही अच्छी है कुछ समय बाद उसकी शादी होने वाली है और वह मुझे बहुत ही चिढाती है। कुछ दिनों बाद उसकी शादी थी इसलिए वह हमारे घर पर आई थी और जब वह हमारे घर पर आई तो घर में सब लोग बहुत ही खुश हुए क्योंकि विदिशा का नेचर बहुत ही अच्छा है। वह मुझसे उम्र में 5 वर्ष बड़ी है और वह बहुत ही ज्यादा सुंदर है। मुझे उसे देखकर हमेशा ही अच्छा लगता है और मैं उसे हमेशा ही छेड़ता रहता हूं। जितने दिन विदिशा हमारे घर पर थी हम लोगों ने बहुत ही मस्ती की और कुछ दिनों बाद उसकी शादी होने वाली थी तो हम सब लोग उसकी शादी में चले गए। जब हम लोग अपनी भाभी के यहां गए तो हम लोग सब साथ में ही बैठे हुए थे। मेरे भैया मेरे साथ हीं थे क्योंकि वह अपने आप को अनकंफरटेबल महसूस कर रहे थे। वह शादी में जाना पसंद नहीं करते और वह बहुत कम ही शादी में जाते हैं लेकिन यह उनकी साली की शादी थी इस वजह से उन्हें वहां पर जाना ही पड़ा और वह कहने लगे कि सब लोग बहुत ही अच्छे से इंजॉय कर रहे है।

जिस दिन मेहंदी की रात थी उस दिन सब लोग काफी मजे में थे और अच्छे से डांस कर रहे थे। मैंने उन्हे कहा कि आप भी डांस कर लीजिए तो वह कहने लगे कि मुझे डांस कहां आता है, तुम्हें तो मालूम ही है। मेरे भैया मुझे कहने लगे कि तुम्हें जाना है तो तुम जा सकते हो, मैं यहीं पर बैठा हूं। फिर कुछ देर वह अपने ससुर के साथ बैठे रहे और उनके साथ ही बात करने लगे। उसके बाद मैं भी इधर उधर घूमने लगा और मैं देख रहा था कि कोई मुझे मेरे साथ का मिल जाता तो कितना अच्छा होता लेकिन कोई भी मुझे मेरे साथ का नहीं मिल रहा था, तभी मेरी भाभी मुझे दिखाई दी गई और पूछने लगी कि तुम इधर उधर कहां घूम रहे हो। मैंने कहा कि मैं ऐसे ही घूम रहा हूं, देख रहा हूं कि कोई मेरे साथ का मुझे मिल जाता तो मैं उसके साथ ही बैठ जाता लेकिन मुझे कोई भी नहीं मिल रहा था। मेरी भाभी कुछ देर तक मुझसे बात करती रही और फिर वह भी चली गई। जब वह गई तो मैं अकेला हो गया। सब लोग बहुत ही मजे कर रहे थे और तभी मुझे  विदिशा मिल गई। वह कहने लगी कि तुम कहां जा रहे हो। मैंने उसे कहा कि मैं ऐसे ही घूम रहा हूं, तो वह मुझसे पूछने लगी कि कोई तुम्हारे साथ का नहीं है। मैंने उसे कहा कि मेरे साथ का कोई नही है इसीलिए तो मैं अकेला घूम रहा हूं यदि कोई मेरे साथ का होता तो मैं उसी के साथ रहता। वह मुझे कहने लगी कि तुम मेरे साथ ही रहो। अब मैं थोड़ी देर उसके साथ ही था लेकिन वह भी शादी की वजह से बहुत व्यस्त थी और वह मुझे कहने लगी कि तुम थोड़ी देर आराम कर लो।

अब मैं कमरे में ही आराम करने लगा और कमरे के अंदर ही बैठा हुआ था। थोड़ी देर बाद मैं बाहर आकर सबके साथ डांस कर रहा था। उसके बाद फिर मैं अकेले अकेले बोर होने लगा और दोबारा से उसी कमरे में जाकर लेट गया। जब मैं उस कमरे में अकेले लेटा हुआ था तो मैं बहुत ही बोर हो रहा था। कुछ देर बाद विदिशा अपनी सहेलियों के साथ मेरे रूम में आ गई। जब वह रूम में आई तो उसने अपनी सहेली से मेरा इंट्रोडक्शन करवाया और कहा कि यह मेरे जीजा जी के छोटे भाई हैं। जब उसकी सहेलिया मुझसे बात कर रही थी तो वह बहुत ही खुश हो रही थी। सब लोग मुझे छेड़ रहे थे और मुझे परेशान कर रहे थे लेकिन उसके बावजूद भी मैं बिल्कुल भी नहीं चिड़ा। वह लोग मुझे बहुत ज्यादा परेशान कर रहे थे। विदिशा की एक दोस्त मुझे कहने लगे कि तुम तो बिल्कुल हीरो की तरह लगते हो। मैंने उन्हें कहा कि तुम मेरी हीरोइन बन जाओ और वह लोग बड़ी जोर से ठहाके लगा कर हंसने लगे। काफी देर तक उन लोगों ने मुझसे बात की और उसके बाद वह लोग चले गए। जब वह लोग चले गए तो विदिशा और मैं बैठ कर बात कर रहे थे। मैंने विदिशा से पूछा कि तुम्हे कैसा लग रहा है तुम्हारी शादी हो रही है। वो कहने लगी कि मुझे बहुत अच्छा लग रहा है क्योंकि मेरे भी कुछ सपने है और जिस से मेरी शादी हो रही है वह बिल्कुल मेरे लायक है। मैंने उसे कहा कि तुम्हें कैसे पता कि वह तुम्हारे लायक है तुमने कभी उससे पहले मुलाकात की है। वह कहने लगी कि  हमारी इससे पहले भी मुलाकात हो चुकी है, अभी तक हमारे बीच में जितनी भी मुलाकाते हुई हैं उन सब से तो मुझे ऐसा ही लगा कि वह एक अच्छा लड़का है और उसके घर वाले भी बहुत अच्छे हैं।

मैं जब विदिशा से बात कर रहा था तो वह मेरी बातों को बहुत ही ध्यान से सुन रही थी। विदिशा और मै बहुत बातें कर रहे थे लेकिन ना जाने मुझे क्या हुआ मैंने उसे कसकर पकड़ लिया। मै उसके होठो को किस करने लगा जब मैंने उसे अपनी बाहों में लिया तो वह भी मेरी बाहों में आ गई। मुझे भी उसने कस कर पकड़ लिया मैंने जैसे ही उसके स्तनों को दबाया तो वह पूरी उत्तेजना में आ गई। मैंने जब उसके शूट के अंदर से उसके स्तनों को बाहर निकाला तो उसके स्तन बहुत ही मुलायम थे और मैं उन्हें अपने मुंह में लेकर चूस रहा था। मुझे बड़ा ही अच्छा लग रहा था जब मैं उसके स्तनों का रसपान कर रहा था। मैं उन्हें बहुत ही अच्छे से अपने मुंह में ले रहा था और मुझे बड़ा मजा आ रहा था। मैंने उसके सारे कपड़ों को खोलते हुए उसे नंगा कर दिया मैंने जब उसके बदन को देखा तो मुझसे रहा नहीं गया और मैंने अपने लंड को उसके मुंह के अंदर डाल दिया। जब मैंने अपने लंड को उसके मुंह में डाला तो वह मेरे लंड को बहुत ही अच्छे से सकिंग करने लगी और उसे अपने गले तक लंड को ले लिया।

अब उससे भी बिल्कुल नहीं रहा गया और उसने अपने दोनों पैरों को मेरे सामने चौड़ा कर दिया। जब मैंने उसकी चूत को देखा तो मैंने उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया और बहुत देर तक मैं उसे चाटता रहा अब उसका पानी निकलने लगा और उससे बिल्कुल भी नहीं रहा जा रहा था क्योंकि उसकी चूत का पानी कुछ ज्यादा ही निकल रहा था। मैंने भी अपने लंड को जैसे ही उसकी योनि में डाला तो उसकी सील टूट गई और वह चिल्लाने लगी। अब मैं अपने लंड को अंदर बाहर करता जाता तो वह पूरी उत्तेजना में आ जाती। उसे बहुत ही मजा आने लगा जिससे कि उसका पूरा बदन टूट रहा था और वह चिल्ला रही थी। मैंने उसे इतनी तेजी से चोदा की वह झड चुकी थी और उसकी चूत से बहुत ही ज्यादा गर्मी निकल रही थी मुझसे भी उसकी गर्मी बर्दाश्त नहीं हो रही थी और मेरा वीर्य पतन हो गया।

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


sex khanihot chudaixxx storylesbo sexmastram hindi storiesbhabhi boobantarvasna moviehot sex storieschudai kahanimomxxx.comantarvasna babachudai ki kahanisardarjiantarvasna new kahanisex khaniyaantarvasna big pictureindiansexstoriesxnxx storiesbap beti antarvasnadesi bhabhi boobschudai ki kahani in hindidesi xossipantarvasna sex storyantervsnaantarvasna.antarvasna sexy photochudai ki kahanihot aunty sexkahaniyaantarvasna story with picdesi lesbian sexantarvasna didigroup sex storiesdesi sexy girlsindian sex sitexxx antarvasnahindi sexy kahanisexi storiessex in trainantarvasna with bhabhijabardasti sexantarvasna newchudai kahaniyaindian sex storiessex with cousinantarvasna babaantarvasna im.antarvasnaantarvasna gharhot saree sexlatest sex storyantarvasna hd videodesi sex imagesantarvasna hindi story 2014porn stories in hindiantarvasna gujaratibhabhi devar sexchudai ki kahaniyaincest sex storyauntyfuckbest sex????? ???????chudai ki khanisasur ne chodasabita bhabichudai ki kahanidesi sex pornchudai ki kahaniyaantarvasna 2013bf hindimami ki chudai antarvasna