Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

मेरे लंड का टोपा-2

desi porn kahani

फिर करीब 11 बजे मैंने कंप्यूटर को चालू किया और दो बार कुर्सी को हिलाकर दरवाजा खुलने का भी चेक किया और 11.30 बजे के करीब प्रीति ऊपर आ गई वो सीधी टॉयलेट में चली गयी। उसने पांच मिनट के बाद फ्लश को चालू किया में समझ गया था कि उसने मेरे झांट के बालों को ज़रूर देखा होगा मेरे अंदाज से वो वही से गरम होने वाली थी। अब मैंने ब्लूफिल्म को चालू किया उसको देखते हुए में पूरा नंगा होकर मुठ भी मार रहा था और मेरा पूरा ध्यान दरवाजे पर ही था। फिर करीब दस मिनट के बाद कंप्यूटर की स्क्रीन पर जो दरवाजे की तरफ थी। मैंने उसमे कुछ हलचल देखी और तब मैंने और पांच मिनट तक इंतजार किया और तब मुझे पूरी तरह से पता चल गया कि प्रीति अब सब कुछ देख रही है। मैंने अब मेरी कंप्यूटर की कुर्सी को ज़ोर से एक तरफ सरकाई और वो दरवाजा आधा खुल गया मैंने देखा कि वहां पर मेरी गरम सेक्सी नौकरानी पूरे जोश में खड़ी हुई थी और अब मैंने देखा कि उसका एक हाथ उसके एक तरफ के बूब्स को दबा रहा था और उसका दूसरा हाथ उसकी सलवार के ऊपर से उसकी चूत को सहला रहा था और में उसके सामने नंगा खड़ा था और करीब दो सेकेंड उसको कुछ भी समझ में नहीं आया।

फिर तब तक में उसके पास आकर अपनी आधी दूरी तय कर चुका था और वो भागने के लिए जैसे ही पलटी मैंने उसको पीछे से दबोचकर पकड़ लिया जिसकी वजह से उसके दोनों बूब्स मेरे हाथ में थे और उसकी पीठ मेरी छाती पर थी और मेरा खड़ा लंड उसकी गांड के छेद पर था। अब मैंने तुरंत उसके बूब्स को सहलाना शुरू किया और उसकी गर्दन और कान को चाटना शुरू किया और कुत्ते की तरह मैंने उसकी गांड पर अपनी तरफ से हल्के हल्के धक्के लगाने शुरू कर दिए और उसके मुझसे कुछ भी कहने सुनने से पहले ही मैंने उसका एक बूब्स और उसकी कमर को पकड़कर उसको बेड पर तुरंत लाकर पटक दिया। उसका एक हाथ मेरे नीचे फंसाया और दूसरे हाथ से उसका दूसरा हाथ पकड़ा और अब मैंने उसको उसके नरम होंठो पर किस करना चालू किया और उसी के साथ मैंने अपने एक हाथ से उसकी चूत को कपड़ो के ऊपर से सहलाना भी शुरू किया करीब तीन, चार मिनट तक चूमने के बाद उसने अब अपनी तरफ से मेरा साथ देना शुरू कर दिया था। वो मेरा साथ देते हुए मेरी जीभ से अपनी जीभ को मिलाकर चूसते हुए और अपने एक हाथ को मेरी पीठ पर पहुंचाकर उसने अब सहलाना शुरू कर दिया था। अब मैंने उसका हाथ छोड़ दिया और उसके बाद मैंने उसके बूब्स को मेरी छाती के नीचे दबाए और में उसके ठीक ऊपर आ गया, जिसकी वजह से मेरा तना हुआ लंड उसकी चूत के बीच एकदम ऊपर था और में अब भी उसको चूम रहा था। तभी उसने मुझसे कहा कि आप बस दो मिनट रूको ना, तब मैंने उससे पूछा कि वो किस लिए? उसने दोबारा कहा प्लीज़ रुक जाइए ना और अब में उसके कहने पर रुक गया और उसी के साथ में उसके ऊपर से भी हट गया। वो अब मुझे निहारने लगी और वो मेरी साफ छाती पर हाथ फेरते हुए बोली मुझे लगता है कि आप इसका बहुत ध्यान रखते हो? मैंने कहा कि हाँ अब तू दिखा तू तेरा कितना ध्यान रखती है, चल अब उतार दे कपड़े। तो उसने कहा कि में नहीं उतार सकती, तब मैंने उससे कहा कि अगर में उतार दूँगा तो यह कपड़े तो जरुर फटेंगे, चल अब चुपचाप उतार दे। वो मेरी बात को सुनकर डर गयी और फिर वो अपने कपड़े उतारने लगी। मैंने देखा कि ब्रा तो उसने पहनी ही नहीं थी और पूरी नंगी होने के बाद मैंने इशारे से उसको मेरे पास में बुलाया।

अब वो अपने दोनों बूब्स को अपने दोनों हाथों से छुपाने की नाकाम कोशिश करती हुई मेरे पास आ गयी क्योंकि उसके बूब्स रंग में बहुत गोरे और आकार में बहुत बड़े थे, इसलिए उनको हाथों के पीछे छुपाना बड़ा मुश्किल था। अब में उसका एकदम गोरा नंगा सेक्सी बदन देखकर बड़ा चकित और उसकी तरफ आकर्षित हो गया था, जिसकी वजह से में एकदम जोश में आ गया और मैंने उसको उसी समय अपनी तरफ से एक झटका देकर उसको अपनी तरफ खींचकर अपनी बाहों में भर लिया और उसके बाद मैंने उसको धीरे धीरे सहलाना शुरू किया। फिर में उसके बूब्स को चूसने लगा तो उसने मेरा मुहं अपने बूब्स पर दबोच लिया। में उसके निप्पल पर मेरी जीभ को घुमा रहा था, जिसकी वजह से वो अब पहले से ज्यादा गरम हो रही थी।

दोस्तों मैंने देखा कि उसकी बगल पर बाल के काले गुच्चे थे। मैंने उसको वहां पर चाटा और उस समय वो सिसकियाँ लेने लगी। तभी वो मुझसे पूछने लगी कि तुम मेरी बगल के यह बाल कब साफ करोगे? लेकिन मैंने उसको अपनी तरफ से कोई भी जवाब नहीं दिया। अब मैंने उसकी चूत पर ऊँगलिया घुमाई और उसने मुझे अपनी बाहों में लेकर और ज़ोर से अपने बूब्स पर जकड़ लिया और उसकी चूत पर बाल बहुत थे। उसके झांट के बाल और चूत पूरी गीली हो चुकी थी। फिर मैंने सही मौका देखकर अपनी एक ऊँगली को उसकी चूत के अंदर डाल दिया तो वो एकदम से छटपटा उठी और उसने मेरा हाथ अपने दोनों पैरों में जकड़ लिया और मेरी उंगली को अपनी चूत में और मेरा मुहं अपने बूब्स पर ज़ोर से दबाकर प्रीति अब झड़ रही थी और धीरे धीरे वो झड़ने के बाद अब कुछ देर बाद एकदम शांत हो गई। मैंने उसकी तरफ देखा तो उसकी दोनों आखें बंद थी। फिर मैंने उसको उस नींद से जगाया और उससे पूछा क्या तुम खुश हो? तब उसने मेरी तरफ देखकर मुझसे कहा कि हाँ, ठीक उसी समय मैंने उससे कहा कि मुझे खुश करना अभी बाकी है, उसने अब मुझसे पूछा कि मुझे उसके लिए क्या करना होगा? तब मैंने अपना लंड उसको दिखाते हुए उससे कहा कि इसको चाटो।

फिर उसने मेरी बात को रखने के लिए मेरे लंड को अपने मुहं में ले लिया और वो अब मेरे लंड का टोपा अपनी जीभ से चाट रही थी। फिर कुछ देर बाद मैंने उससे कहा कि पूरा चूस और फिर उसने मेरा पूरा लंड चाटना चूसना शुरू किया। कुछ देर बाद मैंने उससे कहा कि अब मेरे आंड भी चाटो और अब उसने मेरे आंड पर भी अपनी जीभ घुमाई और उसके ऐसा करने के कुछ देर बाद वो अब थककर मेरे नीचे लेट गयी। अब में उसके दोनों पैरों के बीच में आ गया था और में अपने लंड को एक हाथ से पकड़कर उसकी गरम गीली चूत के दाने पर रगड़ने लगा, जिसकी वजह से वो सिसकियाँ लेने लगी और अपने कूल्हों को ऊपर उठाने लगी। फिर करीब पांच मिनट रगड़ने के बाद मैंने अपने लंड का टोपा उसकी चूत के दोनों होंठो को खोलकर चूत के मुहं पर रख दिया और तब उसने मुझसे कहा कि यह सब मेरा पहली बार है, इसलिए थोड़ा ध्यान से आराम से करना। अब मैंने उससे कहा कि तब तो खून निकलना चाहिए और फिर मैंने पूछा तुम कब नहाई थी। उसको उसका मतलब समझाया और वो मुझसे बोली कि तुम मुझे ज्यादा डराओ मत, बस लग जाओ।

अब मैंने उसको दोबारा किस करना चाहा, लेकिन तभी वो मुझसे बोली कि अब तुम यह चुम्मा देना बस करो तुम्हे जो करना है, वो सब अब नीचे करो। फिर मैंने बिना किसी इशारे के उसकी चूत में अपना पहला धक्का लगा दिया, जिसकी वजह से वो ज़ोर से चिल्ला पड़ी माँ आह्ह्हह्ह्ह्ह उईईईईइ में मर गई उसकी आवाज़ की आवाज को मैंने उसके गले पर महसूस किया और वो दर्द की वजह से बहुत ज़ोर से चिल्ला रही थी, इसलिए उसकी पहली चीख के बाद मैंने उसके होंठो को मेरे होंठो से बंद कर लिया और फिर मैंने उसको अपनी तरफ से लगातार धक्के देकर चोदना शुरू किया, लेकिन अब उसकी चिल्लाने की आवाज़ मेरे मुहं में ही दबकर रह गयी। फिर करीब पांच मिनट की चुदाई के बाद वो अब कुछ संभल गयी थी और करीब बीस मिनट की लगातार चुदाई करने के बाद मैंने मेरा लंड प्रीति की चूत से बाहर निकाला और अब उसको मैंने डोगी स्टाइल में बैठाकर दोबारा अपना लंड उसकी चूत में डालकर मैंने जोरदार धक्के देकर उसको चोदा और करीब 35-40 मिनट की चुदाई के बाद मैंने मेरा वीर्य उसकी चूत में निकाल दिया और वो हमारी इस चुदाई के दौरान करीब दो बार वो झड़ चुकी थी।

फिर जब मैंने उसकी चूत से अपना लंड बाहर निकाला तो वो मुझे लंड नहीं निकालने दे रही थी और हम दोनों इस तरह करीब 15 मिनट तक बिना हिले निढाल होकर पड़े रहे और फिर उसके बाद मैंने मेरा लंड उसकी चूत से बाहर निकाला तो मैंने देखा कि वो चादर, मेरा लंड, उसकी चूत और गांड पूरी तरह खून से लाल थी, लेकिन मेरे नीचे लेटी हुई प्रीति अब बहुत खुश नज़र आ रही थी और उसकी ख़ुशी उसके चेहरे से साफ साफ झलक रही थी। वो मेरे साथ अपने इस पहले सेक्स अनुभव की वजह से एकदम संतुष्ट नजर आ रही थी और उसके साथ साथ मुझे भी उसकी कुंवारी चूत को चोदकर बहुत मज़ा आया ।।

धन्यवाद …

Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


seduce sexkamaveri kathaigalantarvasna gay videosindian sex websiteantarvasna sexy story comsex kahani hindiantarvasna comantarvasna familyindian sexy storiesantarvasna old storyindian bus sexindian sexzchudai kahaniyaantarvasna ki storyantarvasna sex chatsex story antarvasnaantarvasna sexy storyantarvasna hindi sexy kahaniyaantavasnachudai ki kahaniyamommy sexchudai ki kahaniindian aunty xxxsexy hindi storyhindi sx storysex kahani hindisavita babhimastram hindi storiesforced sex storiespyasi bhabhimom sex storiessex khaniyahot storydesipornantarvasna hindi mombhabhi ko chodatamanchey????? ??????thamanna sexindian wife sex storiesantarvasna hindi sex khaniyahindi sex storysmaa bete ki antarvasnachudai ki kahaniyaantarvasna maa kiantarvasna with imageantarvasna hindi story newsex storyskiwww. antarvasna. comsexy hindi story antarvasnafree hindi antarvasnabehan ki chudaiantarvasna family storybhabhi ki chutdesi sex photoantarvasna sexchudai ki khaninangi ladkijabardasti sexaunty sex with boydesi antarvasnamaa ki antarvasnagay sex stories in hindidesi chuchihindi sex storeaunty boy sexwww antarvasna story comfree hindi sex story antarvasnaantarvasna cinsex storiesantarvsnaantarvasna hindi sexy kahanimom sex storiesantarvasna hindi bhai bahanantarvasna hindi kahaniyaindian sex atoriesbest desi pornhindi me antarvasnaantarvasna c0mantarvasna hindi videosex story.comantarvasna maa ko chodaantarvasna photoshindi sex storiindian cartoon sexindian sex desi storiesantervasnaantarvasna sex videosdesi sex sitechuthot sex storiesantervasana.comxossip desi????????antarvasna .com