Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

नौकर ने रखैल बनाकर चूत फाड़ी

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम पार्वती है, में शादिशुदा हूँ, मेरी उम्र 31 साल है, मेरी शादी 24 साल की उम्र में हो गयी थी. मेरा फिगर साईज 38-29-40 है, मेरी हाईट यही कोई 5 फुट होगी. मेरी यह स्टोरी मेरे पड़ोस के नौकर और मेरे बीच की है, उसका नाम रवि है. में एक जॉइंट फेमिली में रहती हूँ, मेरे पति, बच्चे, सास और ससुर हम साथ ही रहते है. ये कहानी आज से करीब 6 साल पहले की है.

मेरे सास और ससुर अमेरिका चले गये थे, मेरे पति ट्रैनिंग के सिलसिले में देश से बाहर थे. मुझे अपने पति के साथ ना सोए हुए करीब 1 महीने हुआ था, मेरी नयी-नयी शादी हुई थी और में जवान थी, मेरे अंदर गुदगुदी होने लगी थी. मुझे क्या पता था? मेरे घर के पास वाले घर में जो नौकर था, लेकिन वो नौकर होकर भी उस मकान मालकिन के बेटे जैसा रहता था. वो मेरे सुडौल बदन को बहुत घूर-घूरकर देखता रहता था, लेकिन मुझे कुछ पता नहीं था.

यह एक दिन की बात है, वो मुझे घूर रहा था कि मेरी आँख भी उसके ऊपर पड़ी. अब मस्त जवान लड़का मुझे घूर रहा है और मेरे भीतर कुछ-कुछ होने लगा था तो में मुस्कुराई, तो उसे मेरा सिग्नल मिल गया. फिर थोड़ी देर के बाद वो मेरे घर पर आया, तो मैंने दरवाजे पर दस्तक दी. फिर मैंने दरवाजा खोला और वो मेरे घर के अंदर घुस गया. फिर मैंने उससे पूछा कि आपको किससे मिलना है? तो उसने जवाब में कहा कि तुम से यार.

में खड़ी-खड़ी देखती रह गयी और उसने उसी वक़्त मेरे दोनों बूब्स को दबोच लिया. फिर उसने कहा कि तुम्हारे बदन को देखकर में पागल हो गया हूँ, आज तुमने मुझे सिग्नल देकर बहुत अच्छा काम किया है मेरी जान. अब में भी रोमांचित हो गयी थी और में कुछ नहीं कर सकी.

फिर उसने दरवाजा अंदर से बंद किया और मेरे दोनों बूब्स को सहलाते हुए मेरे बेडरूम की तरफ मुड़ गया, तो में भी खिंची हुई चली गयी. फिर वो मेरी कमर पर अपना एक हाथ मसलकर बोला कि मेरी जान तू मुझे पागल करके ही छोड़ेगी, है ना? तो में कुछ नहीं कह सकी. फिर उसने मुझे मेरे बेड पर लेटाया और मेरे होंठ, गर्दन और बदन पर चूमने लगा. अब मेरे मुँह से आवाज आने लगी थी. अब में पूरी तरह से तैयार हो चुकी थी.

उसने मेरी साड़ी उतार फेंकी और मेरे ब्लाउस को भी उतार फेंका और फिर उसने मेरे पेटीकोट को भी उतार फेंका. अब में उसके सामने सिर्फ ब्रा और पेंटी में थी. फिर उसी वक़्त उसने अपने सारे कपड़े उतार डाले. अब में उसके लंड को देखकर घबरा गयी थी, उसका लंड काला, मोटा था, उसका साईज यही कोई 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा था, लेकिन मुझे करीबन 1 महीना हो चुका था, मैंने लंड का मज़ा नहीं पाया था इसलिए मैंने अपनी आँखें बंद कर ली थी.

फिर वो अपना औजार मेरी चूत के नजदीक लेकर गया और मेरे ऊपर झुक गया, तो में उसके गर्म लंड को महसूस करने लगी. फिर उसने अपने लंड को मेरी चूत के अंदर डालना शुरू किया. अब मुझे दर्द होने लगा था, अब में दर्द से चिल्लाने से लगी थी. तो वो अपने होंठो को मेरे होंठो पर रखकर चूसने लगा और दबाने लगा. फिर बाद में मुझे भी आनंद आने लगा तो में भी पूरी तरह से उसके साथ खेलने लगी.

हम आधे घंटे तक खेलते रहे और बाद में मेरी चूत झड़ गयी और उसके ठीक 2 मिनट के बाद उसने भी अपना पूरा पानी मेरी चूत के अंदर ही डाल दिया और फिर हम दोनों सो गये. फिर करीब 1 घंटे के बाद वो दूसरी बार मेरे साथ खेलकर अपने घर चला गया. फिर अगले दिन फिर से करीब दिन के 11 बजे के आस पास उसने मेरे दरवाजे पर दस्तक दी. तो मैंने दरवाजा खोला और उसको मेरे कमरे में आने दिया. फिर मैंने घर के मैन दरवाजे को बंद किया और उसके पीछे-पीछे चली आई.

फिर उसने मेरे बूब्स को सहलाया और मुझको नंगा होने को कहा और फिर उसने अपने पूरे कपड़े निकाल फेंके. अब में भी पूरी तरह से नंगी हो गयी थी. फिर उसने मेरा निप्पल चूसा और मेरे ऊपर चढ़कर अपना लंड मेरी चूत में डाल दिया और पूरा ज़ोर लगाकर अपना लंड मेरी चूत के अंदर किया. फिर उसके बाद थोड़ी देर आराम करने के बाद वो बातें करने के मूड में था और फिर उसने मुझसे पूछा कि कैसा लगा ये खेल और मेरा लंड?

में शर्मा गयी और बोली कि अच्छा लगा, तो वो हँसने लगा. फिर मैंने उससे उसके बारे में पूछा तो उसने बताया कि वो उस घर का नौकर है. तो में देखती ही रह गयी, इससे पहले तो मैंने सोचा था कि वो उस घर का बेटा है और चौंका देने वाली बात तो और ही थी.

फिर मैंने उससे पूछा कि क्या आप शादीशुदा है? तो उसने जवाब में कहा कि नहीं, लेकिन वर्जिन भी नहीं हूँ. तो मेरा दिल मचल उठा और मैंने उसको पूरी कहानी सुनाने को कहा. तो उसने बताया कि पहले मेरे घर के (जहाँ में रहता हूँ) सामने वाले घर में रहने वाली एक नौकरानी के साथ संबंध था. हम दोनों हर रात पति पत्नी की तरह सोते थे, बाद में वो मेरे बच्चे की माँ बनने वाली थी, फिर उसके मालिक का वहाँ से ट्रान्सफर हो गया था इसलिए अब वो कहाँ है? और क्या कर रही है? मुझे पता नहीं है.

फिर उसने अपनी दूसरी कहानी सुनाई कि मैंने अपने ही घर में नीचे फ्लेट पर रहने वालो की नौकरानी के साथ संबंध रखा था, उसके साथ भी में दिन में और रात में करके हर दिन दो बार अपनी हवस पूरा करता था, लेकिन पहले गलत घटने के कारण मैंने उसे गर्भ निरोधक दे रखी थी इसलिए उसके साथ सोने में मुझे कोई दिक्कत नहीं आई. फिर अपनी दोनों कहानी पूरी करने के बाद मैंने उससे पूछा कि क्या आपके और भी कोई है? तो उसने कहा कि हाँ, अब पहले एक बार फिर से हो जाए और उसके बाद और सुनाऊँगा कहकर उसने मुझे दबोचा और इस बार उसने मुझसे उसका लंड चूसने को कहा, तो पहले तो में झिझक गयी.

फिर उसने मेरा मुँह अपने हाथ में लिया और मेरे होंठो को चूमने लगा और बाद में अपने एक हाथ से मेरे बूब्स को बहुत सख्ती से दबाया और अपने दूसरे हाथ को मेरी चूत पर फैरा. फिर वो मुझसे गुस्से में कहने लगा कि मैंने तुझसे क्या कहा था? मेरे लंड को अच्छी तरह से चूसो, नहीं तो. तो उसके इतना कहते ही में डर गयी और उसके लंड को चूसने लगी. अब उसको बहुत मज़ा आ रहा था.

थोड़ी देर तक चूसने के बाद वो कहने लगा कि रंडी तेरे पति का लंड इतना मोटा नहीं है क्या? और ज़ोर-ज़ोर से चूस ले साली, कुत्तिया. फिर तभी इतने में उसका वीर्य मेरे मुँह में भर गया और फिर उसने मुझे वो खाने को कहा. फिर आख़िरकार में वो सब वीर्य खा गयी और उसके लंड को भी चाट-चाटकर साफ कर दिया. फिर उसके बाद हमने कुछ खाया और उसने मुझे पकड़कर डॉगी स्टाइल में मेरे साथ सेक्स किया. फिर थोड़ी देर के बाद हम दोनों एक साथ झड़ गये और फिर हम दोनों थोड़ी देर तक आराम करने लगे.

फिर मैंने उससे उसकी कहानी के बारे में पूछा और यह तीसरी कहानी उसके घर से ही जुड़ी हुई थी. फिर वो कहने लगा कि मेरी मालकिन का पति बहुत पहले ही भाग गया था और वो उनके बॉस से काम चलाती थी और फिर बाद में जब वो थोड़ी बूढी हो गयी तो उसके बॉस ने भी उसका साथ छोड़ दिया, वो मुझे बेटे की तरह रखती थी. फिर जब मैंने पहली कहानी में कहा ना एक नौकरानी को प्रेग्नेंट किया था, वो मेरी मालकिन ने वही जानकर कभी-कभी मेरे साथ अपनी रात बिताना शुरू किया था, अभी भी में कभी-कभी उनकी इच्छा पूरी करता हूँ और फिर इतना कहने के बाद उसने मेरे साथ फिर से सेक्स किया.

इसके बाद मैंने पूछा कि आपकी और कितनी कहानी है? तो उसने तुरंत ही जवाब दिया अब तेरे साथ की जो कहानी है वही बाकि है, वो भी कह दूँ रंडी, तो में चुप हो गयी.

फिर उस दिन वो चला गया और रात में थोड़ी शराब पीकर आया और फिर उसने मुझे दो चार थप्पड़ भी मारी और उस दिन के बाद करीब 1 साल तक में उसकी रखैल बनकर रही. अब जब भी उसका दिल चाहता था तो वो आ जाता था और मेरे साथ खेलता था.

में एक बार प्रेग्नेंट भी हुई थी, लेकिन मैंने उसे गिरा दिया था और फिर उसके बाद मैंने पिल्स लेना शुरू किया. में अभी भी हफ्ते में दो से चार बार दिन में उसकी हवस पूरी कर रही हूँ. अब जब भी मेरा पति बाहर जाता है, तो वो मेरे साथ रात बिताने के लिए आ जाता है और मुझे उसका लंड चूसना पड़ता है और वीर्य पीना पड़ता है. वो मुझे उसकी रखैल समझता है और गंदी-गंदी गालियाँ देता है और मुझसे बहुत खेलता है और में भी खूब इन्जॉय करती हूँ.

Updated: August 27, 2017 — 8:22 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


antarvasna hindi sexsex kathaluantarvasna maa bete ki chudaiantarvasna chudai videoantarvasna story with picmom son sex storiespunjabi girl sexsavita bhabi.commom ki antarvasnabhabhi ki chutantarvasna sexyantarvasna hdantarvasna risto??hindi antarvasna storydesi sex xxxhotest sexantarvasna marathi storyhindi antarvasna photosmommy sexmomson sexchudai storiesgroup sexschool antarvasnarandi ki chudaipyasi bhabhikajal hot boobshindi storymausi ki chudaiantarvasna story maa betaantarvasna hindi stories photos hotchudai ki khanixxx auntieschudai ki kahanisex storieshindi chudai kahanibest sex storiesaunty sex storiessex comics in hindisexxdesiantarvasna sex videoskamaveri kathaigal????sexy story in hindiantarvasna stories 2016anterwasna.commom sex storiesantarvasna ganduhot aunty sexdesi sexy storiesantarvasna story hindiantarvasna hindi story 2016antarvasana.comantarvasna ahindi sex stories antarvasnahindi sex.comantarvasna hindi chudaiantarvasna sex kahaniantarvasna,comchudai ki khanisex with bhabhiantarvaasnabap beti antarvasnaantarvasna naukarhindi pronwww antarvasna video comantarvasna antarvasna antarvasnaantarvasna hindi free storysumanasa hindimaa ki chudai antarvasnamaa ki chudai antarvasna??? ?? ?????indian sex stories.netchudai ki khanihot antarvasnapapa mere papahot chudaichodan.comsex in sareesamuhik antarvasnachachi ko chodaantarvasna sasur bahuhindi porn storychudai ki kahani in hindisexseengirl antarvasnamomfuckcuckold storiesjabardasth 2017desi chutnew sex storiesantarvasna maa ki chudaibahu ki chudai8 muses velamma