Best Hindi sex stories

Sab se achi Indian Hindi sex kahaniya!

स्कूल फ्रेंड के साथ सेक्स

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम वैभव है और में मुंबई का रहने वाला हूँ. दोस्तों में आज आप सभी चाहने वालो को अपनी एक सच्ची चुदाई की घटना बताने जा रहा हूँ जिसमे मैंने पहली बार अपनी एक दोस्त को चोदा और संतुष्ट किया. यह चुदाई हम दोनों की पहली चुदाई थी, लेकिन हमें इसमे बहुत मज़ा आया. में इससे पहले सेक्स के बारे में ज्यादा कुछ नहीं जानता समझता था और अब आप सभी को ज्यादा बोर ना करते हुए में सीधा अपनी कहानी पर आता हूँ और पूरी विस्तार से आप लोगो को सुनाता हूँ.

दोस्तों यह बात तब की है जब में अपने स्कूल के आखरी साल में था, वैसे में एक मराठी परिवार से हूँ तो इसलिए में थोड़ा शर्मीले स्वभाव का बंदा हूँ और इसलिए में अपने स्कूल में किसी के ज्यादा करीब नहीं था, लेकिन मेरे बहुत सारे दोस्त जरुर थे और मेरे स्कूल के आखरी साल तक मेरी कोई भी गर्लफ्रेंड भी नहीं थी, लेकिन वहां पर बहुत सारी लड़कियाँ सुंदर थी. फिर भी में उन पर ना जाने क्यों ज्यादा ध्यान नहीं देता था.

अब ऐसे ही दिन निकलते गये और एक दिन स्कूल प्रॉजेक्ट के पीरियड में मेरी मुलाकात श्रुति से हुई. में उसे बहुत पहले से जानता था और वो उस दिन के बाद से मेरी बहुत कम समय में एक अच्छी दोस्त बन गई में उसको अब मन ही मन चाहने लगा था. फिर कुछ दिन उससे हाए हैल्लो करने के बाद फिर मैंने एक दिन मन में सोचा कि बस अब बहुत हो गया अब मुझे कैसे भी करके इसकी चुदाई जरुर करनी है. दोस्तों वैसे वो बहुत खुली हुई अच्छे विचार की बहुत सुंदर समझदार लड़की थी, उसकी एक दोस्त थी जिसका नाम प्रीति था और मैंने सोचा कि अगर श्रुति को पटाना है तो मुझे उसकी दोस्त प्रीति को भी पटाना पड़ेगा.

फिर यह बात सोचकर मैंने दूसरे दिन से ही उससे बात, हंसी मजाक करना शुरू कर दिया. दोस्तों प्रीति दिखने में थोड़ी देसी टाईप की लड़की थी. उसका गोरा रंग, बड़ी बड़ी सुंदर आखें और बदन का हर एक अंग भी ठीकठाक था प्रीति भी अब मुझसे बहुत खुलकर बातें करने लगी थी और कुछ दिन एक दूसरे से बात करने बाद हम तीनों ने अपने मोबाईल नंबर एक दूसरे को दे दिए और अब हमने मैसेज करने भी शुरू कर दिए थे और दिन रात हम तीनों चेट करने लगे.

तभी प्रीति ने मेरी इस बात का भी अंदाजा लगा लिया कि मेरा झुकाव श्रुति की तरफ कुछ ज्यादा था और में उससे कुछ ज्यादा ही बातें हंसी मजाक किया करता था, मुझे उसके साथ अपना समय गुजारना बहुत अच्छा लगता था और उसको देखकर मेरा चेहरा ख़ुशी से चमक उठता था और वैसे दोस्तों उसका यह सब सोचना समझना एकदम सही था.

एक दिन उसने मुझसे इस बारे में पूछ ही लिया और फिर मैंने कहा कि हाँ में उसको बहुत ज्यादा प्यार करने लगा हूँ और वो मुझे बहुत अच्छी लगती है तभी वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर हंसने लगी और फिर मैंने भी उस अच्छे मौके का फायदा उठाते हुए तुरंत उससे पूछा कि क्या तुम मेरी कुछ मदद करोगी? तो उसने मुस्कुराते हुए मुझसे कहा कि हाँ क्यों नहीं? मुझे तो इसमे बहुत खुशी होगी में भी यही सब चाहती हूँ तुम दोनों की जोड़ी बहुत अच्छी लगेगी.

फिर हम दोनों आगे के काम का विचार करने लगे कि कैसे हम श्रुति को मेरे मन की बात के बारे में बताए? उन दिनों में प्रीति से बहुत ज्यादा चेट करने लगा था, लेकिन हमारे साथ ज्यादातर श्रुति भी होती हम दोनों थोड़े चुटकुले, शरारती मैसेज इधर उधर करने लगे थे. एक रात अचानक प्रीति ने मुझसे पूछा कि क्या तूने कभी किसी को किस किया है?

मैंने कहा कि हाँ लेकिन वो बहुत समय पहले की बात है मुझे ज्यादा ठीक से याद नहीं आ रही है. फिर मैंने भी उससे यही सवाल पूछा तो उसने भी कहा कि हाँ एक बार किया है और फिर मुझे बिल्कुल भी पता नहीं चला कि कब ऐसे ही धीरे धीरे हमारे किस करने की बातें सेक्स चेट तक पहुंच गयी? क्योंकि में प्रीति के साथ एक अच्छे दोस्त होने के अलावा और कोई भी दूसरा रिश्ता नहीं बनाना चाहता था.

फिर वो श्रुति को पटाने में मेरी पूरी पूरी मदद कर रही थी इसलिए में उसे नकार नहीं कर सकता था. में अक्सर उसके घर पर जाता रहता था और वो भी कभी कभी मेरे घर पर आती थी. स्कूल से निकलने के बाद में तुरंत उसके घर पर जाकर थोड़ा समय उसके पास रहता था और ऐसे ही एक दिन हम दोनों उसके घर पर बैठे हुए थे. तभी अचानक से उसने मुझसे पूछा कि क्या तुझे श्रुति को किस करना है?

दोस्तों हम दोनों ने इससे पहले कभी भी एक दूसरे के पास बैठकर ऐसी बातें नहीं की थी. हमने फोन पर थोड़ी बहुत हंसी मजाक की बातें जरुर की थी. फिर मैंने थोड़ा सोचकर, घबराकर उससे कहा कि हाँ मुझे उसे किस करना है. तो वो मुस्कुराते हुए मुझसे बोली कि हाँ ठीक है मुझे अब ज्यादा देर नहीं रुकना था में करीब दस मिनट में अपने घर के निकल रहा था कि तभी वो अचानक मेरे सामने आ गई और उसने मुझे ज़ोर से हग किया मुझे लगा कि यह ऐसे ही होगा और अब मेरा एक हाथ उसके बालों में था दूसरा उसकी कमर पर.

फिर करीब दो मिनट तक हम दोनों वैसे ही एक दूसरे की बाहों में थे. फिर मैंने उसे अपने से अलग किया तो देखा कि वो बहुत शरमा रही थी, मैंने कहा कि हाँ सब ठीक है प्रीति तुम मेरी बहुत अच्छी दोस्त हो, लेकिन दोस्तों पता नहीं उसे उस समय ऐसा क्या हुआ? अब उसने मुझे किस किया और में एकदम चकित हो गया वो अपनी आखें बंद करके मुझे किस कर रही थी, लेकिन में उसका बिल्कुल भी साथ नहीं दे रहा था, बस कुछ सेकेण्ड बाद उसने अपनी आँखे खोलकर मेरी तरफ देखा और वो फिर से मुझे किस करने लगी.

वो अब मेरे होंठो को चूसने लगी थी और मैंने महसूस किया कि उसके होंठ बहुत मुलायम और किसी फल की तरह बहुत स्वादिष्ट थे. धीरे धीरे मेरे होंठ भी अब मेरे बस से बाहर हो गये और अब में भी उसका पूरा पूरा साथ देने लगा था. दोस्तों हमारा यह चूमना चाटना करीब बीस मिनट तक चला और फिर हम अलग हुए और उसने अपनी आखें बिना खोले मुझे हग किया और मैंने देखा कि उसके चेहरे पर एक प्यारी सी मुस्कान थी.

वो बहुत शरमा भी रही थी और मैंने उसे अपनी बाहों में ही रहने दिया और कुछ देर बाद उसने अपनी आखें खोली और मुझसे कहा कि एलेक्स में सही में बहुत समय से तुम्हे छूकर महसूस करना चाहती थी. अब में बस उसके शब्दों को सुनकर अब उसे देखता ही रह गया. मुझे बिल्कुल भी विश्वास नहीं हो रहा था कि वो मुझसे यह सब क्या कह रही है या में गलत तो नहीं सुन रहा हूँ.

फिर वो मेरे हाथ पकड़कर मुझे अपने बेडरूम तक ले गयी, हम दोनों बेड पर बैठ गये वो अब बहुत शरमा रही थी, लेकिन मैंने उसकी आखों में उसके मन की बात को पढ़ लिया था और अब समझ चुका था कि वो मुझसे अब क्या क्या चाहती है? तो मैंने अपने हाथ से उसे अपनी तरफ पकड़कर खींचा और वो मुझसे चिपककर बैठ गयी. अब मेरा एक हाथ उसकी छाती पर था और उसके बूब्स बहुत ही मुलायम थे.

में अब धीरे धीरे उसकी कमर को सहलाने लगा जिसकी वजह से वो अब जोश में आने लगी. अब मैंने उसे बेड पर सीधा लेटा दिया और खुद भी उसके पास में लेट गया और उसे देख रहा था. अब मैंने उसे उसकी गर्दन, गालों और माथे पर किस करना शुरू किया वो अब बहुत बैचेन सी हो रही थी और मेरी हालत भी कुछ वैसे ही थी. हम दोनों एक बार फिर से किस करने लगे. हम बहुत लम्बे लम्बे किस कर रहे थे और किस करते करते में उसके पेट, कमर और छाती पर हाथ घुमाने लगा था.

फिर मैंने उसके बूब्स को दबाने शुरू किए, वाह इतने मुलायम और बड़े आकार के थे. मुझे उन्हें छूकर बहुत अच्छा महसूस हो रहा था. अब में उसकी गर्दन पर और उसकी छाती पर किस करने लगा. मैंने उसके होंठो पर हल्के से काटा और वो हल्का सा मोन करने लगी. उसकी वो प्यारी सी सुरीली आवाज उसके मुलायम होंठ सेक्सी बदन और उसकी मेरी तरफ़ देखती हुई वो गोल गोल आँखे मुझे बहुत रोमॅंटिक लग रही थी. में उसके ऊपर था और उसे चूम रहा था, उसे धीरे धीरे सहला रहा था और वो मेरे साथ बहुत खुश थी और में भी.

फिर अचानक से उसने मुझे धीरे से धक्का दे दिया और वो तुरंत मेरे ऊपर आ गई और मुझे पागलों की तरह चूमने लगी, काटने लगी आह्ह्ह्हहा उसने अब मेरी शर्ट को उतार दिया और अब वो मेरी छाती पर हल्के हल्के किस करने लगी जिसकी वजह से में बहुत अच्छा महसूस कर रहा था. अब उसने अपनी जांघ से मेरे खड़े लंड को छूकर महसूस किया और फिर उसने मेरे लंड को धीरे से दबा दिया. में बता नहीं सकता कि में उस समय क्या महसूस कर रहा था? मुझे कितना मज़ा आ रहा था. वो झट से बेड पर ही खड़ी हो गई और उसने अपनी स्कर्ट और टॉप को उतार दिया.

फिर मैंने देखा कि उसने काले कलर की पेंटी पहनी हुई है. मैंने उससे कहा कि वाह तुम्हारी पेंटी इस गोरे गोरे बदन पर बहुत चमक रही है वो मेरे मुहं से यह बात सुनकर मुस्कुराने लगी और फिर से मुझ पर लेट गयी और मेरे लंड को दबाने लगी. वो इतनी सुंदर लग रही थी कि में आपको बता नहीं सकता. उस बेड पर में और वो एक दूसरे को किस कर रहे थे और वो मेरे लंड को धीरे धीरे सहला रही थी और फिर दूसरे ही पल वो मेरी बेल्ट और पेंट को खोलने लगी.

में देख रहा था कि वो उस समय बहुत जोश में थी. उसने मेरी पेंट को थोड़ा नीचे सरका दिया और मेरे लंड को मेरी अंडरवियर के ऊपर से ही चूमने लगी अयाया हह आआअहह और हल्के से काटने लगी. अब मैंने उसे ऊपर बुलाया और उसे किस करने लगा. मैंने उसकी ब्रा को हल्के से निकाल दिया और उसके गोल मुलायम और गोरे गोरे बूब्स अब मेरी आँखो के सामने थे.

में उन्हे किस करने लगा और बूब्स को दबाने लगा. तभी उसने अपनी दोनों आखों को बंद कर लिया और उसने ज़ोर से मोन करना शुरू कर दिया आआहह उफ्फ्फफ्फ् सस्सईईईइ. फिर में उसके मुलायम बूब्स को बहुत समय तक दबाता रहा, किस करता रहा. फिर मैंने उससे कहा कि में अब तुम्हारी चूत को भी एक बार देखना चाहता हूँ. तो वो मुझसे कहने लगी कि हाँ देख लो बेबी, यह सब कुछ तुम्हारा ही है. बस फिर मैंने जल्दी से उसे मेरे नीचे लेटा दिया और उसकी पेंटी को धीरे धीरे नीचे सरकाने लगा और उसकी पेंटी को उसके पैरों तक सरका दिया.

दोस्तों में आज पहली बार किसी की चूत को देख रहा था. में अब उसकी चूत को आखें फाड़ फाड़कर देखने लगा. उसकी चूत बहुत गुलाबी बिल्कुल मासूम छोटी सी थी. फिर मैंने उसको छूकर महसूस किया और उसकी चूत बहुत ही मुलायम थी. फिर वो हंसने लगी और मैंने धीरे धीरे उसकी चूत को सहलाना शुरू किया तो वो सिसकियाँ लेने लगी और तड़पने लगी, वो अब तक वर्जिन थी.

फिर में उसकी चूत को अपनी ऊँगली से घिसकर गरम करता रहा और उसके बाद मैंने अपनी एक ऊँगली से उसकी चूत की चुदाई करनी शुरू की. में अपनी ऊँगली को अंदर बाहर कर रहा था और वो ज़ोर ज़ोर से आआहह आईईईईई करके साँसे लेने लगी. फिर मैंने देखा कि उसकी चूत अंदर से बहुत लाल रंग की थी और मैंने महसूस किया कि उसकी चूत बहुत टाईट भी थी मैंने अब उसकी चूत को चूसने का निर्णय ले लिया.

बस अब मैंने अपने होंठो को उसकी जांघो पर रख दिया और किस करने लगा. उसकी चूत पर अपनी जीभ को फेरने लगा और मैंने अपने हाथों से उसकी चूत को फैला दिया और फिर अपनी जीभ से उसके अंदर तक चाटने लगा जिसकी वजह से वो जोश में आकर मेरे बाल सहलाने लगी और सिसकियाँ लेते हुए मेरा नाम लेने लगी. में उसे लगातार लीक करता गया आहहह उफ्फ्फ्फ़ करीब तीन चार मिनट के बाद उसने मुझे बहुत टाईट पकड़ लिया और अब मैंने महसूस किया कि उसका रस निकलने लगा था.

दोस्तों मैंने महसूस किया कि उसकी चूत हल्का हल्का कम्पन कर रही थी, वो बहुत ज़ोर से हिलने लगी थी और अब उसने मुझे फिर से चूसने को कहा. फिर कुछ देर बाद वो शांत हो गई और शायद वो अब झड़ चुकी थी में उसके पास में आकर लेट गया. वो अब मुझे लगातार पागलों की तरह किस करने लगी और वो अपने चेहरे से बहुत खुश और संतुष्ट नजर आ रही थी.

मेरा लंड अभी भी मेरी अंडरवियर में फड़फड़ा रहा था बाहर आने को बैचेन सा नजर आ रहा था. तो वो मेरे पूरे शरीर पर किस करते करते अब मेरे लंड तक पहुंच गयी और अब उसने मेरी अंडरवियर के अंदर टेंट बने मेरे लंड को देख लिया और उसने तुरंत मेरी अंडरवियर को नीचे किया और मेरे लंड को उससे आजाद किया. मेरे लंड का साईज़ 5.5 इंच है और वो बहुत समय तक उसे लगातार घूर घूरकर देखती रही.

फिर उसने मेरी आँखो में देखा. मुझे उसकी आखों में तड़प नजर आ रही थी और अब वो धीरे धीरे लंड को हिलाने लगी और मेरे आंड को हल्के से दबाने लगी. में उसकी वजह से बहुत अच्छा महसूस करने लगा था और वो ज़ोर ज़ोर से मोनिंग करने लगी आह्ह्ह्हह उउउहह उसका मोन करना मुझे बहुत अच्छा लग रहा था.

अब उसने मेरे लंड को इतना ज़ोर से लगातार हिलाया कि उसकी वजह से बस अब मेरा काम निकलने ही वाला था, फिर वो थोड़ी देर रुक गई और मेरे ऊपर आकर एक बार फिर से मुझे किस करने लगी. फिर में भी उसे पागलों की तरह किस करने लगा और हम दोनों का यह सेक्स अनुभव पहला अनुभव था. फिर मैंने उसे 69 पोजीशन के बारे में कहा और वो मेरी बात को बहुत जल्दी मान गई.

में बेड पर सीधा लेट गया वो उल्टी तरफ से मेरे ऊपर आ गई और अब वो मेरी आँखो के सामने उसकी मस्त गांड को हिलाते हिलाते अपनी चूत को मेरे मुहं की तरफ सेट करके बैठ गयी. फिर उसने धीरे से मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ा और उसके टोपे पर अपने नाजुक गुलाबी होंठो से किस किया, वाह मज़ा आ गया, मेरे पूरे शरीर में कोई करंट सा दौड़ने लगा. फिर उसने उसे धीरे धीरे अपने मुहं में लेकर चूसना सहलाना शुरू किया, वो लोलीपोप की तरह मेरे लंड को जबरदस्ती मुहं के अंदर बाहर करके चूसने लगी थी आअहह आहह उफफ्फ्फ्फ़ ऐसा करते करते उसने मेरा पूरा लंड अपने मुहं में ले लिया.

दोस्तों अब मुझे अपने लंड पर उसके मुहं की गरमी महसूस होने लगी थी और उसने उसे लगातार अंदर बाहर करना शुरू किया. में भी जोश में आकर उसकी चूत को चाटने लगा था और वो अब अपना पूरा दम लगाकर अपनी चूत को मेरे मुहं पर दबाने लगी थी. में अब जन्नत की सैर करने लगा था और वो बहुत हल्की आवाज से मोन करते हुए सकिंग करने लगी थी और उसका ऐसा करना मुझे बहुत अच्छा लगने लगा था. करीब 5-6 मिनट बाद मैंने उससे कहा कि बेबी में अब झड़ने वाला हूँ और तुम बताओ अब में क्या करूं?

वो बोली कि में तुम्हारा वीर्य चखकर इसका भी मज़ा लेना चाहती हूँ और वो अब ज़ोर ज़ोर से मेरा लंड हिलाने लगी और सक करने लगी. फिर करीब पांच सेकेंड्स बाद मेरे लंड ने अपना माल छोड़ना शुरू किया और मैंने उसकी चूत को चाटते चाटते उसके मुहं को अपने वीर्य से पूरा भर दिया. फिर उसने कुछ और देर तक मेरे लंड को सक किया और लंड को चाट चाटकर चमका दिया अब वो तुरंत मेरे ऊपर लेटकर मुझे किस करने लगी.

फिर मैंने उसे अपनी बाहों में जकड़ रखा था उसे किस किया और दो मिनट बाद मैंने उसे अपनी बाहों में लेटाकर उसकी चूत में ऊँगली करना शुरू कर दिया और वो अपनी दोनों आँखे बंद करके मोनिंग करने लगी, हाँ बेबी और अंदर दो उफ्फ्फ दो आईईईइ थोड़ा और अंदर धीरे धीरे चिल्लाने लगी. में उसे किस करते करते उसकी चूत में ऊँगली करता रहा, लेकिन उसकी चूत बहुत टाईट थी और मुझे चूत के अंदर ऊँगली डालने में बहुत मेहनत करनी पड़ी क्योंकि वो अब तक वर्जिन थी और आज पहली बार मुझसे चुदने को तैयार थी. फिर कुछ देर बाद मैंने अपनी दूसरी ऊँगली को भी उसकी चूत में डाल दिया और उसने उस दर्द की वजह से अपनी आखों को ज़ोर से बंद कर लिया और मोनिंग करने लगी आआअहह उफफ्फ्फ्फ़ मेरी दोनों उँगलियाँ उसकी चूत में आधी गहराई तक पहुंच गई.

तभी अचानक से वो चिल्लाई आआह्ह्ह्ह फिर मैंने नीचे देखा तो मेरे हाथ पर खून था, शायद उसकी चूत की सील टूट चुकी थी और मैंने उसे और किस किया, फिर उसके बूब्स को दबाने लगा तो मैंने अब उससे कहा कि बेबी अब में तुम्हे चोदना चाहता हूँ, तो वो कहने लगी कि जान में तो कब से तुमसे चुदने के लिए तैयार हूँ, आज में बस तुम्हारी ही हूँ और तुम जैसे चाहो वैसे मुझे चोद सकते हो और फिर उसने मुझे कसकर अपनी बाहों में जकड़ लिया और अपनी चूत को मेरे लंड पर ऊपर नीचे करके घिसने लगी. अब मैंने उसकी उस प्यासी चूत को गौर से देखा तो वो मुझे बहुत कामुक लग रही थी और वो अपनी चुदाई करवाने के लिए बहुत तड़पने लगी थी. उसने अब मेरे लंड को थोड़ा सा हिलाकर किस किया और उसे वापस खड़ा कर दिया. फिर में बेड पर बैठ गया.

फिर मैंने उसकी गांड के नीचे एक तकिया रख दिया, जिसकी वजह से उसकी चूत अब मेरे सामने पूरी खुली हुई थी. मैंने अब अपने लंड को उसकी चूत पर घिसना शुरू किया तो वो अपनी आँख बंद करके बेड शीट को अपने हाथों से जकड़े हुई थी. फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत के मुहं पर रख दिया और उसकी चूत के होंठो को फैलाया और हल्के से सहलाने लगा.

अब उसकी साँसे अब ऊपर नीचे होने लगी थी उहहहह उईईईईइ आह्ह्ह्हह् वो अपने एक हाथ से अपनी चूत को फैलाने लगी और दूसरे हाथ से अपने बूब्स को दबाने लगी मैंने और थोड़ा दबाव दिया तो धीरे धीरे मैंने दबाते हुए अपने लंड के टोपे को उसकी चूत में डाल दिया और रुक गया और वो ज़ोर से चीखने लगी आआअहह. फिर मैंने धीरे धीरे उसे धक्के देने शुरू किए. अब उसकी चूत बहुत खुली खुली और लाल हो गयी थी वो ज़ोर से चिल्लाने लगी आआहह ऊउईईईईइ माँ मर गई प्लीज थोड़ा धीरे करो स्सीईईईईइ मुझे बहुत दर्द हो रहा है, प्लीज मुझ पर थोड़ा सा रहम करो उफफ्फ्फ्फ़ माँ में मरी.

फिर मैंने अपने होंठो को उसके होंठो पर रख दिया और कुछ देर रुककर उसके दर्द के कम होने का इंतजार करने लगा. जब मुझे दर्द कम लगा तो मैंने सही मौका देखकर एक जोरदार धक्का दे दिया जिसकी वजह से मेरा आधे से थोड़ा ज्यादा लंड उसकी चूत को चीरता हुआ गहराईयों में चला गया और वो उस दर्द से तड़पने मचलने लगी. तभी उसने मुझे रुकने के लिए कहा तो मैंने तुरंत रुककर उसे किस किया और उसकी आँखे अब आंसू से भर गयी थी. उसके पूरे चेहरे पर बहुत पसीना था और वो बहुत दर्द में लग रही थी. फिर भी उसने कुछ देर बाद स्माइल देते हुए कहा कि हाँ चोदो बेबी मुझे आह्ह्ह्हह्ह.

अब मैंने एक बार फिर से धक्के लगाना शुरू किया और कुछ देर तक उसे चोदने लगा और वो मोन करने लगी आहाआ उफ्फ्फ्फ़ आईईइ. फिर कुछ देर बाद अब वो मुझे थोड़ी ठीक सी लगने लगी थी कि तभी मैंने एक ज़ोर का धक्का मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत के अंदर चला गया. वो उस असहनीय दर्द से छटपटाने लगी और मुझे अपने से दूर धकेलने लगी. अब मैंने थोड़ा रुककर उसे किस किया और धीरे धीरे लंड को अंदर बाहर करने लगा. मेरे हर एक धक्के के साथ वो आहे भरने लगी थी आईई सीईईईइ अह्ह्ह्हहह और अब उसने मुझे मेरी धक्कों की स्पीड को बढ़ाने को कहा और में अब उस पर पूरी तरह से लेटकर नीचे से धक्के देने लगा और उसे अच्छे से चोदने लगा.

उसके बूब्स को दबाते हुए काटने लगा और उसकी आखें बंद थी और हाथ मेरे बालों में थे और में उसके बूब्स पर किस करते करते उसे हल्के हल्के धक्के देकर चोद रहा था और वो भी अब मेरा पूरा पूरा साथ दे रही थी. में अब धीरे धीरे अपनी स्पीड को बढ़ाता चला गया और बढ़ाता ही गया. वो मछली की तरह मेरे हर एक धक्के से छटपटाने लगी और मोनिंग करने लगी और मेरा नाम लेने लगी, जिसकी वजह से मेरा भी जोश अब बहुत बढ़ गया था और मुझे बहुत अच्छा महसूस हो रहा था.

दोस्तों उसका वो मुलायम शरीर और उस पर उसके वो मुलायम बूब्स से में बहुत जोश में आ गया था और उसके बूब्स का आकार थोड़ा छोटा जरुर था, लेकिन बूब्स बहुत कसे हुए थे, क्योंकि वो उसकी चढती जवानी थी और वो चुदाई हम दोनों की पहली चुदाई थी. में उसे बहुत अच्छे से चोद रहा था और कुछ धक्के देने के बाद मुझे पता था कि मेरा वीर्य निकलने वाला है इसलिए मैंने उससे कहा तो वो बोली कि में तो कब से तुम्हारे काम को अपनी प्यासी चूत में लेकर महसूस करना चाहती हूँ और अपनी चूत को इससे शांत करना चाहती हूँ. तुम जल्दी से अपना पूरा माल अंदर ही डाल दो. फिर बस कुछ ही देर धक्के देने के बाद मैंने भी उसकी चूत में अपना वीर्य छोड़ दिया और वो अपने चेहरे से मुझे एकदम त्रप्त नजर आ रही थी. अब हम दोनों एक दूसरे से लिपटकर किस करने लगे और कुछ देर वैसे ही रहे. में उसे बहुत ज्यादा पागलों की तरह किस कर रहा था और उसने मुझे हग किया और उस बेड पर हम दोनों एक दूसरे की बाहों में बाहें डालकर लेटे रहे और ना जाने कब सो गये.

Updated: August 2, 2016 — 4:12 am
Best Hindi sex stories © 2017
error:

Online porn video at mobile phone


hot sex storiesantarvasna sex storyhindi chudai kahaniauntysexindian sec storiesantarvasna with picturedesi sex kahanihotest sexantarvasna gay videochahat moviekamsutrachudai ki kahaniyasaree sexywww antarvasna com hindi sex storiesxoosipgay sex storiesindian aunty sexfree antarvasna hindi storynew hot sexantarvasna lesbianantarvasna babahindi sex storiindian sex atoriesxnxx sex storiessexkahaniyaantarvasna maa ki chudaibhabhi sex storiessex story antarvasnaindian boobs pornchachi ki antarvasnaindian sex websiteantarvasna family storyantarvasna free hindi storyantarvasna appantarvasna .comporn hindi storytamancheyantarvasna chachi bhatijaantarvasna sadhuantarvasna new hindi sex storyxxx kahaniantarvasna. comsex with indian auntyindian group sexantarvasna indian videogandu antarvasnastory antarvasnafree antarvasna hindi storynew desi sexbus sex storiessex storiesantarvasna hindi 2016best antarvasnaantarvasna wwwmaa ki chudai antarvasnaxoosipaunty sex photosantarvasna jijahoneymoon sexantarvasna.sex storeskamukta.comantarvasna com hindi mehindi sexy storiesdesi hindi pornantarvasna iantarvasna new hindi storyantarvasna risto mehindi antarvasna photosiss storiessex kahani hindiwww. antarvasna. comsavita bhabhi hindi